जागरण संवाददाता, देहरादून। भारतीय किसान यूनियन (तोमर) ने मंगलवार को रेलवे स्टेशन पर प्रदर्शन करने का एलान किया है। साथ ही महापंचायत कर केंद्र सरकार के नए कृषि कानूनों का विरोध करने का भी निर्णय लिया है। यूनियन के जिलाध्यक्ष संदीप चौहान की अध्यक्षता में रविवार को पित्थूवाला स्थित कार्यालय में कार्यकारिणी की बैठक हुई, जिसमें सभी पदाधिकारियों ने संगठन के विस्तार पर विचार-विमर्श किया। 

बैठक में निर्णय लिया गया कि सभी पदाधिकारी और सदस्य मंगलवार को रेलवे स्टेशन पहुंचकर धरना-प्रदर्शन करेंगे। साथ ही नए कृषि कानूनों के खिलाफ भारतीय किसान यूनियन (तोमर) की महापंचायत करेगी। प्रदेश अध्यक्ष सोमदत्त शर्मा ने कहा कि सरकार किसानों को गुमराह करने का प्रयास कर रही है। किसान कम पढ़े-लिखे हो सकते हैं, लेकिन मूर्ख नहीं। ऐसे में वे अपने हित और अहित को अच्छी तरह जानते हैं।

उन्होंने कहा कि सरकार नए कानूनों को जबरन थोप रही है। इस दौरान प्रदेश उपाध्यक्ष वीरेंद्र तेवतिया, राजीव मलिक, संगठन मंत्री चमन सिंह, प्रदेश महासचिव श्यामलाल, सचिव रमेश चौहान, प्रदेश प्रवक्ता अरुण शर्मा, जिला अध्यक्ष संदीप चौहान, जिला उपाध्यक्ष कविंदर मलिक आदि उपस्थित थे।

छात्रों और शिक्षकों की अनदेखी कर सकी सरकार

प्रदेश सरकार ने सहायता प्राप्त अशासकीय महाविद्यालयों को श्रीदेव सुमन विवि से संबद्ध न होने की दशा में अनुदान बंद करने का जो फैसला लिया है, वह अनुचित है। यह बात उत्तराखंड क्रांतिदल के पूर्व जिलाध्यक्ष विजय कुमार बोड़ाई ने रविवार को बयान जारी कर कही। उन्होंने केंद्रीय विवि के नियमों के तहत अनुदान बंद करने के निर्णय को छात्रों व कालेज शिक्षकों के हितों पर कुठाराघात बताया। 

यह भी पढ़ें- ऊर्जा निगम की टीम पर हमले से कार्मिक गुस्साए, कानूनी कार्रवाई की मांग

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप