देहरादून, जेएनएन। क्रिकेट एसोसिएशन ऑफ उत्तराखंड को जल्द ही बीसीसीआइ से पांच करोड़ रुपये का फंड मिलने वाला है। इस फंड से सीएयू के कर्मचारियों की तनख्वाह, वेंडरों के भुगतान के साथ प्रदेश के खिलाड़ियों के लिए बनाई गई योजनाओं को धरातल पर उतारा जाएगा।

सरकार ने लॉकडाउन घोषित कर दिया है। इससे खिलाड़ी घरों में कैद हैं और अपनी रूटीन प्रैक्टिस तक नहीं कर पा रहे हैं। इसी बीच क्रिकेटरों के लिए एक अच्छी खबर आ रही है। बीसीसीआइ क्रिकेट एसोसिएशन ऑफ उत्तराखंड को पांच करोड़ का फंड जारी करने जा रही है।

दरअसल बीसीसीआइ खुद से संबद्ध सभी राज्य क्रिकेट संघों को राज्य में क्रिकेट के संचालन व खिलाड़ियों के हित में कदम उठाने के लिए सालाना फंड जारी करता है।राज्य संघ जिसमें सभी कर्मचारियों की सैलरी व क्रिकेट टूर्नामेंटों के आयोजन का खर्च समेत खिलाड़ियों के हित में अन्य खर्च पूरे करता है। 

बीसीसीआइ उपाध्यक्ष व क्रिकेट एसोसिएशन ऑफ उत्तराखंड के सचिव महिम वर्मा ने बताया कि बीसीसीआइ सचिव जय शाह से फंड के संदर्भ में बातचीत हुई है। इस पर उन्होंने अगले कुछ ही दिनों में फंड जारी करने की बात कही है। उन्होंने बताया कि फंड मिलने के बाद प्रदेश के खिलाड़ियों के लिए बनाई गई योजनाओं पर काम किया जाएगा। जिससे खिलाड़ियों को योजनाओं का लाभ मिल सके और वह खेल के प्रति प्रोत्साहित हो सकें।

कोरोना ने खराब किए कई काम

सीएयू सचिव महिम वर्मा ने बताया कि कोरोना वायरस के संक्रमण ने कई काम खराब कर दिए। उन्होंने बताया कि राजीव गांधी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम में सभी आयु वगोर्ं के खिलाड़ियों के लिए ऑफ सीजन कैम्प शुरू करने की योजना थी। 

यह भी पढ़ें: Coronavirus: कोरोना को हराने के लिए खेल परिसरों में पसरा सन्नाटा

जिसे अब स्थगित करना पड़ा। इसके अलावा एक अप्रैल को सीएयू का कार्यालय भी राजीव गांधी स्टेडियम में शिफ्ट करना था। पहाड़ी जिलों में भी कई गतिविधियां कराई जानी थी, लेकिन अब सभी कार्य इस महामारी के बाद ही शुरू किए जाएंगे।

यह भी पढ़ें: क्रिकेट महासमर के प्रति उदासीन नजर आ रही है क्रिकेट एसोसिएशन

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस