जागरण संवाददाता, विकासनगर: स्थानीय तहसील में सात सूत्रीय मांगों को लेकर अनिश्चतकालीन धरने पर बैठे किसान एकता मोर्चा कार्यकत्र्ताओं ने हथियारी में निर्माणाधीन व्यासी परियोजना का कार्य बंद कराने की चेतावनी दी। उन्होंने उप जिलाधिकारी पर आरोप लगाया कि धरने की अनदेखी कर उनकी मांगों को नहीं सुना जा रहा है।

धरनारत किसानों की मांग है कि क्रय केंद्रों पर खरीदे गए धान का भुगतान जल्द दिलाया जाए। गन्ना किसानों का लंबित भुगतान भी सरकार शीघ्र कराए। वर्ष 2016 से हथियारी परियोजना के विस्थापितों की अनुग्रह राशि के बकाया का भुगतान ब्याज सहित कराने और ग्राम पंचायत मटोगी की चरागाह भूमि पर हुए कब्जे को हटाने की मांग भी शामिल है। इसके अलावा डाकपत्थर से लेकर कुल्हाल तक शक्ति नहर के दोनों तरफ 15 फुट ऊंची रेलिग लगाने, हथियारी की व्यासी परियोजना क्षेत्र अंतर्गत खाली कराई जा रही दुकानों व मकानों की एवज में ग्रामीणों का शीघ्र विस्थापन करने तथा परियोजना निर्माण के दौरान विस्फोट से क्षतिग्रस्त मकानों का शीघ्र उचित मुआवजा देने की भी मांग की। उन्होंने चेतावनी दी है कि यदि नौ मार्च तक मांगें नहीं मानी गई तो मजबूरन बगैर सूचना दिए 120 मेगावाट की निर्माणाधीन व्यासी परियोजना क्षेत्र में चल रहे संपूर्ण कार्य बंद करा दिए जाएंगे। इस संबंध में मोर्चा ने तहसील प्रशासन के माध्यम से एक ज्ञापन भी मुख्यमंत्री को भेजा है। धरने पर भारत संवैधानिक अधिकार संरक्षण मंच के राष्ट्रीय संयोजक दौलत कुंवर, सोमदत्त जाटव, जगबीर शर्मा, दीवान सिंह, अमीर चंद, सुरेश कुमार, दौलत सिंह, पूरण थापा, विमला देवी, खजान सिंह, लालाराम पाल, सोमपाल सिंह, रामपाल सिंह, स्वराज चौहान, संतराम, अनिल कुमार, नारायण सिंह आदि मौजूद रहे।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021