जागरण संवाददाता, ऋषिकेश : Ankita Murder Case : अंकिता हत्‍याकांड से गुस्‍साए यमकेश्‍वर के लोगों ने एक ओर विधायक की गाड़ी तोड़ दी तो दूसरी ओर आरोपित के रिसॉर्ट में आग लगा दी। रिसॉर्ट के एक हिस्से में बने गोदाम में कुछ लोगों ने आग लगा दी। यहां पर आंवला कैंडी बनाने का लघु उद्योग स्थापित किया गया था। हालांकि पर काबू पा लिया।

जानकारी के मुताबिक अंकिता भंडारी के शव को अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान ऋषिकेश लाया गया। यहां बड़ी संख्या में स्थानीय लोग एकत्र हो गए।

विधायक रेनू बिष्ट के वाहन को क्षतिग्रस्त कर दिया

यहां पर पहुंची यमकेश्वर के विधायक रेनू बिष्ट को नागरिकों के गुस्से का सामना करना पड़ा। उपस्थित लोगों ने इनके खिलाफ नारेबाजी कर उनके वाहन को क्षतिग्रस्त कर दिया। जिसके बाद यहां से वापस लौट गई।

आरोप है कि उन्होंने देर रात संबंधित रिसॉर्ट पर जेसीबी चलाकर अंकिता भंडारी के कमरे को क्षतिग्रस्त कर दिया। जिससे मौके पर साक्ष्य नष्ट होने का पूरा अंदेशा है।

एम्स ऋषिकेश में अंकिता भंडारी के शव को पोस्टमार्टम के लिए रखा गया। सुबह से ही स्थानीय नागरिक यहां पहुंचने लगे। यम्केश्वर की विधायक रेनू बिष्ट अंकिता के स्वजन से मिलने यहां आईं। वहां मौजूद लोग ने इनके खिलाफ नारेबाजी कर प्रदर्शन किया। इस दौरान उनकी गाड़ी को भी छतिग्रस्त किया गया।

जेसीबी चलाने से अंकिता भंडारी का कमरा क्षतिग्रस्त

मौके पर मौजूद जिला पंचायत सदस्य क्रांति कपरवाण ने कहा कि रात के अंधेरे में रिसॉर्ट पर जेसीबी चलाने से अंकिता भंडारी का कमरा भी क्षतिग्रस्त हो गया है। जिससे वहां मौजूद साक्ष्य भी नष्ट हो सकते हैं। जबकि फॉरेंसिक की टीम की ओर से यहां पर अभी जांच किया जाना बाकी है।

महिला आयोग की अध्यक्ष कुसुम कंडवाल, जिला पंचायत सदस्य आरती गौड़ भी एम्‍स ऋषिकेश पहुंची तो उन्‍हें भी लोगों ने वापस लौटा दिया। पुलिस ने अपनी सुरक्षा में दोनों को एम्स से बाहर तक पहुंचाया गया। कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल, पूर्व विधायक शैलेंद्र रावत, मनोज रावत एम्स पहुंचे।

Edited By: Nirmala Bohra

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट