देहरादून, जेएनएन। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा परिषद के वरिष्ठ सहायक से ओएलएक्स के जरिए 45 हजार रुपये से अधिक की ठगी कर ली गई। उन्होंने ओएलएक्स पर स्कूटी का विज्ञापन देखकर जालसाज से संपर्क किया था। जालसाज ने खुद को सेना में सेवारत बताकर उन्हें विश्वास में लिया और ठगी को अंजाम दिया।

दिनेश कुमार निवासी राजेंद्रनगर कौलागढ़ रोड सीबीएसई में वरिष्ठ सहायक के पद पर कार्यरत हैं। उन्होंने पुलिस को दिए तहरीर में बताया कि बीती 27 मई को ओएलएक्स पर उन्होंने एक स्कूटी का विज्ञापन देखा। उसमें दिए मोबाइल नंबर पर संपर्क किया तो बात करने वाले ने बताया कि वह जम्मू में सेना में नौकरी करता है। इस समय उसकी ड्यूटी जौलीग्रांट में है। वह अपनी स्कूटी बेचना चाहता है।

बातचीत होने से एडवांस के तौर पर सवा दो हजार रुपये नगद और आधार कार्ड की प्रति भेज दी गई। इस के बाद वह शख्स बार-बार पूरे पैसे देने के दबाव बनाता रहा। इस दौरान उससे मिलने की कोशिश की गई तो वह मिलने नहीं आया। विश्वास कर उन्होंने छह किश्तों में उसे 45880 रुपये भेज दिए। इसके बाद उसने फोन उठाना ही बंद कर दिया। पुलिस के अनुसार इस मामले में कैंट कोतवाली पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। मामले की जांच की जा रही है आरोपित को जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

यह भी पढ़ें: ओएलएक्स पर कार दिखा 1.60 लाख ठगे, धोखाधड़ी से बचने को ऐसे रहें सचेत

यह भी पढ़ें: ओएलएक्स पर संभलकर करें वाहन का ऑनलाइन सौदा, पढ़िए पूरी खबर

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Sunil Negi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस