जागरण संवाददाता, हरिद्वार: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की चार दिसंबर को देहरादून के परेड ग्राउंड में होने वाली रैली एतिहासिक होगी। जिले की सभी 11 विधानसभाओं से और 372 शक्ति केंद्रों से 40 हजार कार्यकर्त्‍ता प्रधानमंत्री को सुनने देहरादून पहुंचेंगे। भाजपा जिला कार्यालय में शनिवार को आयोजित तैयारी बैठक में भाजपा के प्रदेश महामंत्री और हरिद्वार जिले के रैली प्रभारी राजू भंडारी ने कहा कि पीएम मोदी का उत्तराखंड से विशेष लगाव रहा है।

यही कारण है कि जब भी वह उत्तराखंड आते हैं, आम जनमानस उनको सुनने और उनकी एक झलक को आतुर रहता है। बताया कि रैली की सफलता को लेकर विधानसभा वार सभी विधानसभा प्रभारियों को जिम्मेदारियां सौंप दी गई हैं। 28 नवंबर से सभी विधानसभाओं की अलग-अलग तैयारी बैठकर आयोजित की जाएंगी। भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष और हरिद्वार जिला प्रभारी खिलेंद्र चौधरी ने बताया की रैली की सफलता के लिए खानपुर विधानसभा से योगेश चौधरी हरिद्वार ग्रामीण और मंगलौर विधानसभा जिलाध्यक्ष डाक्टर जयपाल चौहान, भगवानपुर और झबरेड़ा विधानसभा के लिए खिलेंद्र चौधरी, रुड़की और पिरान कलियर विधानसभा के लिए जिला महामंत्री आदेश सैनी, लक्सर के लिए जितेंद्र चौधरी, रानीपुर और ज्वालापुर विधानसभा के लिए जिम्मेदारी विकास तिवारी को सौंपी गयी है। इन विधानसभाओं की बैठकों की तिथि और समय भी तय कर दिया गया है।

यह भी पढ़ें- Uttarakhand Election: उत्तराखंड में आधी आबादी ने की तैयारी, टिकटों के लिए बढ़ेगी दावेदारी; यहां देखे नंबर गेम

काबीना मंत्री स्वामी यतीश्वरानंद ने कहा कि हरिद्वार जिले के कार्यकर्त्‍ता हजारों की संख्या में रैली में प्रतिभाग करेंगे। भाजपा जिलाध्यक्ष डाक्टर जयपाल सिंह चौहान ने कहा कि चार तारीख को सुबह नौ बजे हरिद्वार जिले के सभी कार्यकत्र्ता देहरादून के लिए प्रस्थान करेंगे। बैठक में जिला महामंत्री आदेश सैनी, रानीपुर विधायक आदेश चौहान, भाजपा ओबीसी मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष राकेश गिरि, मंगलौर मंडी समिति अध्यक्ष मधु ङ्क्षसह, विधानसभा प्रभारी अनिल अरोड़ा, अजीत चौधरी, पूर्व महापौर मनोज गर्ग, अमन त्यागी, शोभाराम प्रजापति, संदीप गोयल, आशु चौधरी, अनामिका शर्मा, लव शर्मा आदि कार्यकत्र्ता उपस्थित रहे। अध्यक्षता भाजपा जिला अध्यक्ष डा. जयपाल ङ्क्षसह चौहान ने की और संचालन जिला महामंत्री विकास तिवारी ने किया।

यह भी पढ़ें- Uttarakhand Election: कांग्रेस में आसान नहीं होगी टिकट की राह, दावेदारों को गुजरना होगा कड़ी परीक्षा से

Edited By: Sumit Kumar