जागरण संवाददाता, ऋषिकेश:

ऋषिकेश निवासी राष्ट्रीय बहादुरी पुरस्कार विजेता लाभांशु शर्मा को ऑल इंडिया कांफ्रेंस ऑफ इंटेलेक्चुअल ने उत्तराखंड रत्न अवार्ड से सम्मानित किया है।

शनिवार को ऑल इंडिया कांफ्रेंस ऑफ इंटेलेक्चुअल द्वारा कुमाऊं विवि नैनीताल में आयोजित कार्यक्रम में उच्च न्यायालय के न्यायाधीश सर्वेश गुप्ता व उत्तराखंड मानवाधिकार आयोग के न्यायाधीश राजेश टंडन ने उन्हें यह पुरस्कार प्रदान किया। दैनिक जागरण को दी जानकारी में लाभांशु शर्मा ने बताया कि इस समारोह में विभिन्न क्षेत्रों में काम कर रहे लोगों को सम्मानित किया गया। जिनमें से वह सम्मान पाने वाला सबसे कम उम्र का है। लाभांशु ने बताया कि उन्हें यह सम्मान कुश्ती के खेल में राज्य का नाम रोशन करने के लिए तथा युवाओं को नशामुक्ति अभियान से जोड़ने के लिए दिया गया। उल्लेखनीय है कि मायाकुंड ऋषिकेश निवासी लाभांशु शर्मा को वर्ष 2015 में राष्ट्रपति के हाथों राष्ट्रीय बहादुरी पुरस्कार से भी सम्मानित किया गया है। लाभांशु युवा बचाओ-दुनिया बचाओ मुहिम के जरिए नशे की गिरफ्त में जा रहे युवाओं को बचाने की कोशिश में भी जुटे हैं।