संवाद सूत्र, गैरसैंण (चमोली)। चमोली के गैरसैंण उपडाकघर से 32 लाख की नकदी चोरी मामले में पुलिस टीम ने तीन आरोपितों को गिरफ्तार किया। इनसे 20 लाख 3 हजार नकदी के साथ एक बाइक, लेपटाप व तीन मोबाइल फोन बरामद किए। आरोपितों को कोर्ट में पेश कर न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया है। पुलिस महानिदेशक ने पुलिस टीम को 10 हजार नकद पुरस्कार की घोषणा की है।

10 जुलाई की रात को गैरसैंण स्थित उपडाकघर से 32 लाख नकदी सहित अन्य सामान चोरी का मामला प्रकाश में आया था। जिसकी सूचना उपडाकपाल हिमांशु नेगी ने 11 जुलाई को थाना गैरसैंण में दर्ज कराई थी। चोरी के पर्दाफाश को छह पुलिस टीम का गठन किया था। पुलिस क्षेत्राधिकारी कर्णप्रयाग ने पत्रकार वार्ता में बताया कि घटनास्थल के नजदीकी सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगालने सहित सरहदी जनपद अल्मोड़ा पुलिस की सहायता ली गई। आखिरकार सोमेश्वर पुलिस थाना क्षेत्र से आरोपितों की गिरफ्तारी की गई। आरोपितों का आपराधिक रिकार्ड रहा है। चौखुटिया, अल्मोडा निवासी आरोपित कैलाश नेगी पुत्र नरेंद्र नेगी 30 जुलाई को काशीपुर स्थित कुंडेश्वरी फौजी कालोनी में एक आवासीय भवन खरीदने के दौरान पकड़ा गया। उसके पास से 20 लाख व दो मोबाइल फोन बरामद किए गए। गिरफ्तार आरोपित से मिली जानकारी के आधार पर राजेंद्र गिरी पुत्र कैलाश गिरी और नरेंद्र सिंह पुत्र खेम सिंह चौखुटिया निवासी को गिरफ्तार किया गया।

पुलिस टीम में यह रहे शामिल

टीम में थानाध्यक्ष सुभाष जखमोला, इंस्पेक्टर गिरीश चंद्र शर्मा, एसओजी निरीक्षक मनोज नेगी, एसआइ हेमदत्त भारद्वाज, एसआइ नितिन बिष्ट, एसआइ नरेंद्र कोटियाल, एसओजी एसआइ कृष्ण मठपाल, कांस्टेबल हरेंद्र, देवेंद्र, रविंद्र, बलवीर, मनीष, विपिन शामिल रहे।

यह भी पढ़ें- Dehradun Crime News: घर का सपना दिखाकर करोड़ों की ठगी करने वाले बिल्डर दीपक मित्तल के खिलाफ एक और मुकदमा दर्ज

Edited By: Raksha Panthri