गोपेश्वर(चमोली), [जेएनएन]: मध्य हिमालय में स्थित चतुर्थ केदार रुद्रनाथ मंदिर के कपाट इस वर्ष 19 मई को सुबह सात बजे श्रद्धालुओं के दर्शनों के लिये खोल दिये जाएंगे। बसंत पंचमी के पर्व पर  गोपीनाथ मंदिर में आयोजित कार्यक्रम में पंचाग पूजा कर पंडित दिनेश प्रसाद थपलियाल ने पंचाग गणना के आधार पर तिथि घोषित की।

रुद्रनाथ मंदिर के मुख्य पुजारी पं. हरीश भट्ट ने बताया कि की 15 मई को गोपीनाथ मंदिर में विधि विधान से पूजा अर्चना के बाद भगवान रुद्रनाथ की उत्सव डोली को गोपीनाथ मंदिर के गर्भगृह से मंदिर परिसर में श्रद्धालुओं की पूजा अर्चना के लिए रखा जाएगा। दो दिनों तक डोली के साथ चलविग्रह मूर्ति मंदिर के गद्दी स्थल में रहने के बाद 17 मई को उत्सव डोली नगर भ्रमण के बाद गंगोलगांव , सगर गांव होते हुए रात्रि विश्राम के लिये पनार बुग्याल पहुंचेगी।

जहां से 18 मई को उत्सव डोली  भक्तों के साथ रात्रि विश्राम के लिए रुद्रनाथ मंदिर पहुंचेगी। 19 मई को रुद्रनाथ में पूजा-अर्चना के बाद सुबह सात बजे रुद्रनाथ मंदिर के कपाट श्रद्धालुओं के दर्शनों के लिये खोल दिए जाएंगे। कपाट खुलने की तिथि निश्चित करने के समारोह में मंदिर समिति प्रबंधक अनसूया प्रसाद भट्ट, प्रयाग दत्त भट्ट, अवतार सिंह रावत, शांति प्रसाद भट्ट, जनार्दन तिवाड़ी, वंशी प्रसाद भट्ट, कन्हैया लाल भट्ट, शम्भू प्रसाद तिवाड़ी, लखपत सिंह नेगी, क्रांति भट्ट आदि मौजूद थे।

यह भी पढ़ें: बदरीनाथ धाम के कपाट खुलने की मुहूर्त निकला, 30 अप्रैल को खुलेंगे 

यह भी पढ़ें: महाशिवरात्रि पर निकलेगा केदारनाथ के कपाट खुलने का मुहूर्त

यह भी पढ़ें: श्रद्धालुओं ने लगाई गंगा में डुबकी, झंडारोहण के साथ वसंत उत्सव शुरू

Posted By: Sunil Negi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस