जागरण संवाददाता, बागेश्वर: जिले में पिछले दो दिन में जंगल में आग लगने की 36 घटनाएं हो चुकी है। आग से करीब 82 हेक्टेयर जंगल राख हो गया है। किसी भी वन्य जीव के मारे जाने की सूचना नही है।

जंगल की आग को देखते हुए प्रशासन व वन विभाग ने मोर्चा संभाल लिया है। वन विभाग के 125 नियमित कर्मी और 180 संविदा कर्मी आग पर नियंत्रण करने के लिए कार्य कर रहे है। जिले के कपकोट, गरुड़, कांडा, कौसानी के जंगल धधक रहे है। जिला मुख्यालय के लगे रैखोली में बीते सोमवार की देर रात अचानक भयंकर आग लग गई। आग की लपटे बढ़ते हुए गांव तक पहुंच गई। गांव वालों ने रात भर जागकर आग पर नियंत्रण पाया। ग्रामीण देवी दत्त उपाध्याय, चंद्र प्रकाश थापा, नवीन चंद्र उपाध्याय, घनश्याम उपाध्याय, देवी दत्त पांडे, भुवन चंद्र पांडे, नारायण ¨सह थापा, मंजू थापा आदि ने कहा कि वन विभाग को इसकी सूचना दी गई। बारी-बारी जाग कर आग की पहरेदारी की। कोई हताहत नहीं हुआ है। आग पर अब नियंत्रण है। ======== वन विभाग ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी है। किसी प्रकार के नुकसान की सूचना नहीं है। कहीं भी आग लगने की सूचना मिले तो इसकी तुरंत सूचना दें। ताकि समय रहते उस पर नियंत्रण किया जा सके।

आरके ¨सह, डीएफओ, बागेश्वर

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप