वाराणसी, जेएनएन। प्रसिद्ध लकड़ी का खिलौना वाराणसी की नहीं अब देश की भी पहचान बनने जा रहा है। इसके लिए यूपी से तीन प्रमुख खिलौना बनाने वाले जिलों में सहारनपुर, ग्रेटर नोएडा के अलावा वारासी का खिलौना उद्योग चर्चा में है। यूपी से सर्वाधिक वाराणसी क्‍लस्‍टर के दो पोस्‍टर आयोजन में शामिल किए गए हैं जबकि बाकी दोनों जिलों से एक-एक पोस्‍टर शामिल किया गया है।  27 फरवरी से दो मार्च तक आयोजन को लेकर लोगों के शामिल होने को लेकर ऑनलाइन रजिस्‍टर किया जा रहा है। 

वर्चुअल आयोजन 27, 28 फरवरी और एक व दो मार्च को होगा जिसमें खरीदार के अलावा कारीगर और विक्रेताओं को भी मंच मिला है। देश के पहले वर्चुअल टॉय फेयर को लेकर भी इन दिनों प्रशासनिक चर्चा भी खूब हो रही है। आयोजन के प्रचार प्रसार के साथ ही आयोजन के बारे में जानकारियां भी इंटरनेट मीडिया में खूब शेयर की जा रही हैं। आयोजन की थीम का लोगो लटटू को रखा गया है। इसमें प्रदर्शनी के अलावा विजिटर, देश के खिलौने और खिलौनों की कहानियों को भी शामिल किया गया है। हर सेक्‍शन से लोगों के जुड़ाव के लिए उनको आकर्षित करने के लिए भी आकर्षक कार्यक्रमों को शामिल किया जा रहा है। 

आयोजन में जनरल विजिटर और बिजनेस डेलीगेट के लिए अलग अलग पंजीकरण की प्रक्रिया है। आयोजन से जुड़ने के लिए ऑनलाइन वेबसाइट पर जाकर कोई भी विजिटर या कारोबारी खुद को पंजीकृत करा सकता है। वहीं टॉय स्‍टोरी के तहत आयोजन की जानकारी, नानी की ओर से खिलौने का तोहफा, खिलौनों से हिंदी सीखने का प्रयास और सोशल डिस्‍टैंसिंग पर आधारित वीडियो पोस्‍ट भी जारी किया गया है। आयोजन से जुड़ने के लिए वेबसाइट https://www.theindiatoyfair.in/ पर जाकर ऑनलाइन पंजीकरण करना पड़ेगा। वेबसाइट पर पंजीकरण करने के बाद आयोजन से जुडी सभी जानकारियां पंजीकृत लोगों को ऑनलाइन भेजी जाएंगी। आयोजन में वाराणसी का लकड़ी का खिलौना शामिल होने की वजह से यहां के कारोबारियों के लिए यह एक शानदार अवसर साबित होने जा रहा है। 

Edited By: Abhishek sharma