वाराणसी, जेएनएन। अप्रत्‍याशित तौर पर सीबीएसई ने 12 वीं का परीक्षा परिणाम गुरुवार दोपहर एक बजे जारी कर दिया। परीक्षा परिणामों में उत्‍तर प्रदेश टापर्स के लिहाज से इस बार अव्‍व्‍ल रहा है जिसमें मेरठ की हंसिका शुक्ला और मुजफ्फरनगर की करिश्मा अरोरा ने टॉप किया है। सर्वाधिक 98.2 फीसद पास होने वाले छात्रों के साथ त्रिवेंद्रम पहले स्‍थान पर रहा वहीं चेन्‍न्‍ई रीजन में 92.93 फीसद छात्र पास हुए हैं जबकि दिल्‍ली रीजन में 91.87 फीसद छात्र पास हुए हैं।

वाराणसी में सनबीम सनसिटी की 98.4 राधिका बजाज ने अब तक प्राप्‍त जानकारी के अनुसार सर्वाधिक अंक प्राप्‍त किए है। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा परिषद (सीबीएसई) ने गुरुवार को अचानक इंटरमीडिएट परीक्षा का परिणाम घोषित कर दिया। इसकी सूचना मिलते ही परीक्षार्थी एक-दूसरे को फोन कर पुष्टि करने में लग गए। वहीं अचानक परिणाम जारी होने की सूचना मिलते ही विद्यालयों के अध्यापक भी अवाक रह गए। बहरहाल सूचना मिलते ही परीक्षार्थी ही नहीं विद्यालय भी परिणाम जानने के लिए नेट पर जुट गए। परिणाम को लेकर अचानक विद्यालयों में गहमागहमी बढ़ गई। परिणाम देखने के बाद कुछ कुछ परीक्षार्थी विद्यालय भी पहुंच रहे हैं। वहीं विद्यालयों का कहना है कि अभी रिजल्ट देखने में समय लगेगा। ऐसे में टापर्स परीक्षार्थियों की सूची शाम चार बजे के बाद मिलने की संभावना है। वहीं इंटरमीडिएट में इस वर्ष 17761 परीक्षार्थी पंजीकृत थे।

 'पलक' ने बढ़ाया शान

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा परिषद (सीबीएसई-सेंट्रल बोर्ड आफ सेकेंडरी एजुकेशन) 12वीं की परीक्षा (वर्ष 2019) में इस वर्ष टॉपर सूची में लड़कियों की बल्ले-बल्ले रही। द आर्यन इंटरनेशनल स्कूल के कामर्स ग्रुप की छात्रा पलक मिश्रा 99.2 फीसद (496/500) अंक हासिल कर प्रयागराज परिक्षेत्र में तीसरे व जनपद में अव्वल रहीं। वहीं सनबीम स्कूल, वरूणा के मानविकी वर्ग प्रियांकुश अधिकारी 99 फीसद (495/500) अंक प्राप्त कर परिक्षेत्र में चौथे व जनपद में दूसरे स्थान पर रहें। वहीं जनपद में तीसरा स्थान पर संयुक्त रूप तीन छात्राओं को मिला है। सनबीम स्कूल, सनसिटी की राधिका बाजाज, द आर्यन इंटर नेशनल स्कूल की जागृति अठवानी व डीपीएस, वाराणसी की सोनिया जौहरी को संयुक्त रूप से 98.4 फीसद (492/500) अंक प्राप्त हुए हैं।
सीबीएसई ने 12वीं का परीक्षा परिणाम गुरुवार को एक बजे अचानक जारी किया। पहली बार ऐसा हुआ है कि रिजल्ट जारी होने की भनक परीक्षार्थियों को ही नहीं विद्यालयों को भी नहीं रही। ज्यादातर परीक्षार्थियों को विश्वास ही नहीं हो रहा था कि परिणाम जारी हो गया। लिहाजा परीक्षार्थियों का आपस में फोन घनघनाने लगा। एक-दूसरे से रिजल्ट की पुष्टि में लग गए। वहीं विद्यालयों भी गुरुवार को रिजल्ट जारी होने की उम्मीद नहीं थी। प्रधानाचार्य से लगायत अध्यापक तक एक-दूसरे से फोन कर रिजल्ट की पुष्टि करने में जुट गए। जैसे उन्हें पता चला कि सीबीएसई ने इंटर परीक्षा के नतीजे जारी कर दिया है। विद्यालयों में गहमागहमी बढ़ गई। अध्यापक के साथ परीक्षार्थी भी जुटने लगे। उधर परीक्षार्थी ही नहीं उनके अभिभावक भी स्मार्ट फोन पर रिजल्ट देखने जुट गए। रिजल्ट देखते ही परीक्षार्थी खुशी से उछल पड़े। परीक्षार्थियों ने स्कीन शॉट लेकर एक-दूसरे को भेजना शुरू कर दिए। एक-दूसरे हो बधाई देने का तांता देरशाम तक जारी रहा। रिजल्ट देखने के बाद छात्रों ने सबसे पहले गुरुजनों से आशीर्वाद लिया। दोस्तों के बीच मिठाईयां बांटी व खुशियां मनायी। कुछ विद्यालयों ने परीक्षार्थियों को रिजल्ट दिखने के लिए विशेष बंदोबस्त किए थे। इसमें कई कोचिंग संस्थाएं भी शामिल है। बहुतायत स्कूलों ने शत प्रतिशत रिजल्ट का दावा किया। कुल मिलाकर स्कूलों लगायत कालोनी-मोहल्लों तक गहमागहमी रही।  
 स्मार्ट फोन से साइबर कैफे  की कमाई पर लगा ब्रेक  
वर्तमान में हर परीक्षार्थी के पास स्मार्ट फोन होने के कारण इस वर्ष साइबर कैफे में परीक्षार्थियों की भीड़ गत वर्षों की तुलना में कम रही। कुछ साइबर कैफे में प्रिंट लेने के लिए परीक्षार्थियों की भीड़ देखी गई। वहीं कई साइबर कैफे से सामान्य दिनों की भांति लोगों की भीड़ थी।
28 दिनों के भीतर ही रिजल्ट
 सीबीएसई की परीक्षा 15 फरवरी से शुरू हुई थी। 12वीं वोकेशनल कोर्स की परीक्षा 15 से 30 फरवरी तक हुई थी। वहीं 10वीं के वोकेशनल कोर्स की परीक्षा 21 फरवरी से शुरू हुई थी। मुख्य विषयों की परीक्षा 12वीं की दो मार्च और 10वीं की सात मार्च से शुरू हुई थी। 12वीं की परीक्षा चार अप्रैल और 10वीं की 29 मार्च को समाप्त हुई थी। इस प्रकार परीक्षा के 26 दिनों के भीतर सीबीएसई से इंटर का परिणाम जारी कर दिया।
फोन से घर बैठे देखा परिणाम
इंटर का रिजल्ट इस वर्ष भी अच्छा रहा। ऐसे में स्कूलों से लगायत घरों तक जश्न का माहौल देखा गया। अच्छा रिजल्ट आने की खुशी में मिठाईयां भी बंटी। छात्रों ने पैर छूकर माता-पिता व गुरुओं का आशीर्वाद लिया। हालांकि कुछ बच्चों के चेहरे मुरझाए नजर आए। ऐसे छात्रों को उनके अभिभावक व शिक्षक ढांढस बंधाते रहे।
मंदिरों में जाकर टेका मत्था  
अच्छा परिणाम आने से देरशाम तक मंदिरों में परीक्षार्थियों की भीड़ लगी रही। संकट मोचन, काशी विश्वनाथ, अर्दली बाजार स्थित महावीर मंदिर सहित अन्य कालोनी-मोहल्ले के मंदिरों में परीक्षार्थियों ने जाकर मत्था टेका। छात्र-छात्राओं के संग उनके अभिभावक भी मंदिर में दर्शन पूजन करने पहुंचे थे।

इंटरमीडिएट
135 विद्यालय
29 केंद्र  
17761 परीक्षार्थी  
 

Posted By: Abhishek Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस