जागरण संवाददाता, वाराणसी : 'आजादी का अमृत महोत्सव' पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को पोस्टकार्ड के माध्यम से 'स्वतंत्रता संग्राम के अकीर्तित नायक' और '2047 में भारत के प्रति मेरा दृष्टिकोण' विषय पर अपना विचार भेजेंगे। यह प्रतियोगिता का डाक और शिक्षा विभाग संयुक्त तत्वावधान में गुरुवार से शुरू की गई है। इसमें देश के 75 लाख बच्चे प्रतिभाग करेंगे। वाराणसी परिक्षेत्र के पोस्टमास्टर जनरल कृष्ण कुमार यादव ने बताया कि यह प्रतियोगिता 20 दिसम्बर तक चलेगी।

विद्यार्थियों को स्कूल के माध्यम से 50 पैसे में पोस्टकार्ड उपलब्ध कराया जाएगा। जिस पर पहले से ही प्रधानमंत्री कार्यालय का पता अंकित होगा। इसमें सीबीएसई बोर्ड, केंद्रीय विद्यालय, नवोदय विद्यालय और राज्य बोर्डों से सम्बद्ध स्कूलों के कक्षा 4 से 12 तक के विद्यार्थी शामिल होकर हिंदी, अंग्रेजी व अनुसूचित भाषा में पोस्टकार्ड लिखकर प्रधानमंत्री के पते पर भेज सकते हैं। इस प्रतियोगिता के माध्यम से युवाओं को आजादी के गुमनाम नायकों के बारे में जानने का मौका मिलेगा। वहीं नयी पीढ़ी में पत्राचार करने और पत्र लिखने का अनुभव भी होगा। प्रतियोगिता के बाद, राज्य सरकार से सम्बद्ध सभी स्कूल अपने यहां के दस सर्वोत्तम पोस्टकार्ड को माई गव के लिंक https://innovateindia.mygov.in/postcardcampaign और सीबीएसई बोर्ड के स्कूल https://cbseit.in/cbse/2021/dak/frmlogin.aspx पर अपलोड करेंगे। डाक विभाग एक निश्चित तिथि पर सभी पोस्टकार्ड को स्पेशल बैग के माध्यम से प्रधानमंत्री कार्यालय तक पहुंचाएगा।

17 जनवरी 2022 को देश भर से चुने हुए सर्वश्रेष्ठ 75 पोस्टकार्ड के लेखक विद्यार्थियों को विज्ञान भवन, नई दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से मिलने का अवसर मिलेगा। यहां श्रेष्ठ विचारों वाले एक हजार पोस्टकार्ड की प्रदर्शनी भी लगाई जाएगी।

Edited By: Saurabh Chakravarty