वाराणसी, जेएनएन। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी समेत प्रदेश के अन्य चयनित शहरों में क्रियान्वित स्मार्ट सिटी की योजना को स्पेन से गति मिलेगी। इसके लिए उत्तर प्रदेश का प्रतिनिधित्व करते हुए कमिश्नर दीपक अग्रवाल रविवार को स्पेन के लिए रवाना हो गए जहां बार्सिलोना में तीन दिवसीय कांफ्रेंस आयोजित किया गया है। इस कांफ्रेंस में दुनिया के कई देशों से प्रतिनिधि शिरकत करेंगे और अपने देश की बेहतरी को साझा करेंगे।

इस ज्ञान की थाती को संजोया जाएगा और लौटने के बाद स्मार्ट सिटी योजना में आ रही कमियों को दूर किया जाएगा। स्पेन के लिए पूरे भारत से अफसरों की टीम रवाना हुई हैं। इसका मुख्य उद्देश्य है कि अपने शहर को कैसे हाईटेक बनाया जाए। हकीकत में यह अध्ययन टूर ही माना जा सकता है। इससे पहले भी वाराणसी की एक टीम जापान गई थी। इसमें पूर्व महापौर रामगोपाल मोहले के अलावा तत्कालीन नगर आयुक्त डा. श्रीहरि प्रताप शाही के अलावा अन्य अफसर भी शामिल थे।

पूर्व जिलाधिकारी प्रांजल यादव भी विदेश का दौरा कर चुके हैं जिनके अनुभवों के आधार पर वाराणसी शहर में स्मार्ट सिटी योजनाओं को क्रियान्वित किया जा रहा है। स्मार्ट सिटी योजना के तहत सबसे बड़ी चुनौती है मूलभूत सुविधाओं के साथ ही जनता को स्मार्ट सुविधाएं प्रदान करना। इस दिशा में कदम तो बढ़े हैं लेकिन अभी तक कारगर साबित नहीं हो रहे हैं। मसलन, ट्रैफिक सिस्टम, आनलाइन हाउस टैक्स समेत कई अन्य देय, ठोस व तरल कचरा प्रबंधन, नियोजित शहर विकास व विस्तार आदि मुद्दे प्रमुख हैं।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस