मऊ, जेएनएन। भारतीय जनता पार्टी दोहरीघाट मंडल की बैठक बुधवार को वरिष्ठ भाजपा नेता मोतीचंद्र चौहान के आवास पर आयोजित की गई। इस दौरान मंडल अध्यक्ष रामधीन पांडेय के नेतृत्व में वीर सावरकर की पुण्यतिथि पर उनके चित्र पर पुष्पांजलि अॢपत कर उनके आदर्शों पर चलने का संकल्प लिया गया।

इस दौरान रामधीन पांडेय ने कहा कि दामोदर सावरकर एक क्रांतिकारी और हिंदू महासभा के गठन के लिए जाने जाते हैं। सावरकर ऐसे क्रांतिकारी थे जिन्होंने अपनी काला पानी सजा को भी पुनर्जन्म से परिभाषित कर अंग्रेजों को सोचने पर मजबूर कर दिया था। कहा कि भारतीय स्वतंत्रता का इतिहास-1857 और हिन्दुत्व जैसी पुस्तकें दामोदर सावरकर का नाम कभी नहीं भूलने देंगी। रत्नागिरी में पतित-पावन मंदिर का निर्माण और अंबेडकर से भी पहले एक दलित को पुजारी बनाकर इन्होंने देशभक्त होने का सबसे बड़ा परिचय दिया है।

सचिन मिश्रा ने कहा कि वीर सावरकर द्वारा की गई राष्ट्र के प्रति निस्वार्थ सेवा को झुठलाया नहीं जा सकता। उन्होंने वीर सावरकर के सजा कारावास के स्थान को प्रधानमंत्री ने पूज्य मंदिर का स्थान दिया है। उन्होंने कहा कि जिस स्थान पर हमारे देश के महान नेता वीर सावरकर अपने प्राण हंसते-हंसते देश के नाम कुर्बान कर दिए, ऐसे महान बलिदनीयो का बलिदान कभी भी नहीं भुलाया जा सकता है। इस दौरान प्रहलाद भारती, अमरनाथ, अशोक मोदनवाल, मार्कंडेय राय, लालू चौहान, मारुतिनंदन पांडे, विक्रम चौहान, राहुल, प्रदीप राय, मुक्तेश्वर ङ्क्षसह, अर्जुन भारती, रामकरण राय, अखिलेश श्रीवास्तव, रंजीत गुप्ता, आलोक गुप्ता, रमेश श्रीवास्तव, भानु दत्त उपाध्याय, इंदल पासवान आदि उपस्थित थे।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप