जागरण संवाददाता, वाराणसी : चिकित्सा के क्षेत्र में बेहतर कार्य करने के लिए बीएचयू चिकित्सा विज्ञान संस्थान के मेडिसिन विभाग में पूर्व प्रोफेसर डा. कमलाकर त्रिपाठी को पद्मश्री सम्मान के लिए चुना गया है। मूल रूप से सिद्धार्थनगर के मदनपुर गांव निवासी डा. त्रिपाठी वाराणसी के रवींद्रपुरी एक्सटेंशन में रह रहे हैं।

उन्होंने बताया कि इस सम्मान का श्रेय उनके गुरु व माता-पिता को जाता है। उन्होंने बताया कि जीवन के चौथे पड़ाव पर मिलने वाला यह सम्मान एक आदर्श है। जिसे जो जिम्मेदारी मिलती है अगर वह ईमानदारी व निस्वार्थ भाव से कार्य करता है तो उसे इस प्रकार के सम्मान जरूर मिलेंगे।

डा. त्रिपाठी नेफ्रोलाजी विभाग के भी हेड रह चुके हैं। इसके अलावा से 1998 से 2001 तक जनरल मेडिसिन विभाग के अध्यक्ष रहे। वे संस्थान में प्रभारी के तौर पर डीन की भी जिम्मेदारी निभा चुके हैं। वे 2008 से 2009 तक इंडियन हाइपरटेंशन सोसायटी के अध्यक्ष रहे। इसके अलावा 2009 से 11 तक यूपी डायबिटीज एसोसिएशन के अध्यक्ष रहे। उन्हें दो अंतरराष्ट्रीय, 15 राष्ट्रीय अवार्ड मिल चुके हैं। वे बीएचयू की ओर से यूएसए, कनाडा, यूके व नीदरलैंड का दौरा भी कर चुके हैं। वहीं वे बीएचयू के साथ ही गोरखपुर विश्वविद्यालय की एकेडमिक काउंसिल के सदस्य भी रहे हैं। उन्होंने बताया कि उनके सवा सौ से अधिक रिसर्च पेपर विभिन्न राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय जर्नल में प्रकाशित हो चुके हैं।

Edited By: Saurabh Chakravarty