औद्योगिक क्षेत्र में स्वच्छता और हरियाली के लिए उद्यमी खुद प्रयासरत है। इसके लिए चांदपुर औद्योगिक अस्थान में उद्यमी स्वच्छता व हरियाली के लिए ठोस पहल करने में जुटे हैं। औद्योगिक विकास के साथ क्षेत्र के विकास पर खास ध्यान दिया जा रहा है। उद्योग को विकसित करने के साथ इंसान की सेहत पर भी ध्यान देना चाहिए। सरकारी कोशिशों से अलग समाज की जिम्मेदारियों को भी पूरा करने की कोशिश की जा रही है।

1969 में पंजीकृत चांदपुर औद्योगिक आस्थान में करीब 170 सदस्य उद्यम चला रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की स्वच्छता अभियान के तहत क्षेत्र की सफाई नियमित तौर उद्यमी करते हैं। इस बारे में दी स्माल इंडस्ट्रीज एसोसिएशन के महासचिव राजेश भाटिया के अनुसार हम सभी मिलकर क्षेत्र का स्वास्थ्य बेहतर करने की कोशिश में जुटे हैं। औद्योगिक अस्थान कोऑपरेटिव सोसायटी के माध्यम से सफाई अभियान को बल दिया जा रहा है। क्षेत्र की सेहत ठीक होगी तो उद्यम बढ़ेगा। सफाई व हरियाली की स्थिति बेहतर होने से श्रमिकों व उद्यमियों की सेहत बेहतर होगी। लोगों का स्वास्थ्य ठीक रहेगा तो क्रियाशीलता भी बढ़ेगी।

औद्योगिक क्षेत्र की हरियाली ठीक रहे इसके लिए पौधरोपण करने के साथ ही उसके संरक्षण की भी कवायद होती है। पौधों को संरक्षित करने के लिए देखभाल की जिम्मेदारी टीम के सदस्यों पर है। सफाई व हरियाली के लिए दी स्मॉल इंडस्ट्रीज एसोसिएशन के अध्यक्ष राजेश कुमार वर्मा, उपाध्यक्ष नीरज पारीख, अवधेश गुप्ता, प्रशांत अग्रवाल, एके सिंह, महेंद्र अरोड़ा, राजीव जसपुरिया, भूपेंद्र कटारिया आदि प्रयासरत है। इन उद्यमियों के अनुसार सरकार तो अपने स्तर पर योजनाओं को क्रियान्वित कर रही है लेकिन हमारी भी कई जिम्मेदारी बनती है। इसी के तहत हम लोगों की ओर से पहल की जा रही है।

By Krishan Kumar