वाराणसी, जेएनएन। बरेली से प्रयागराज के सेंट्रल जेल भेजे गए माफिया से नेता बने अतीक अहमद को अब अमहदाबाद जेल भेजा गया है। प्रयागराज से एम्बुलेंस से वाराणसी पहुंचे अतीक अहमद का जलवा अभी भी बरकरार है।

शनिवार को ही अतीक अहमद को गुजरात की अहमदाबाद जेल में शिफ्ट करने का आदेश आ गया था। राज्य सरकार की ओर से एयर टिकट नहीं उपलब्ध करा पाने के कारण अतीक दो दिन तक नैनी जेल में रहा। इस बीच पूरी कागजी कार्यवाही हो गई थी और आज सुबह ही कड़ी सुरक्षा के बीच अतीक को वाराणसी एयरपोर्ट ले जाया गया, जहां से वह गुजरात भेजा गया। आज स्पाइसजेट के जहाज से अहमदाबाद जेल भेजे गए अतीक अहमद ने सफेद रंग का कुर्ता पहन रखा था और कुर्ता की जेब में दो हजार रुपया के नोट की गड्डी झलक रही थी।

बाहुबली व पूर्व सांसद अतीक अहमद को भेजा गया अहमदाबाद

नैनी सेंट्रल जेल में बंद बाहुबली व पूर्व सांसद अतीक अहमद को कड़ी सुरक्षा में सुबह एम्बुलेंस से वाराणसी के लाल बहादुर शास्त्री इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर लाया गया। अतीक अहमद की सुरक्षा के लिए डिप्टी जेलर, सीओ व दो वाहन अतिरिक्त पुलिस बल प्रयागराज से वाराणसी पहुंचा था। एयरपोर्ट से अतीक अहमद को 9.45 बजे वाराणसी से अहमदाबाद जाने वाली स्पाइसजेट के विमान एसजी 972 से अहमदाबाद भेज दिया गया। अतीक अहमद के अहमदाबाद जाने के लिए बाबतपुर एयरपोर्ट पहुंचने से पूर्व ही हवाई अड्डे पर जहां सीआईएसएफ और फूलपुर व बड़ागांव थाने की पुलिस भी तैनात की गयी थी। अतीक अहमद का नया ठिकाना अब अहमदाबाद जेल होगा। अपहरण, हत्या, धन उगाही व धमकी देने के सैकड़ों केस वाले अतीक अहमद को वीआइपी सुविधा मिलती रहती है। देवरिया जेल में उसका जलवा कायम था।

लखनऊ से व्यवसायी को अपहरण करने के बाद देवरिया जेल में बंद अतीक अहमद के सामने पेश किया गया है। अब अतीक अहमद हवाई जहाज से यात्रा कर रहा है। किसी अन्य अपराधी के साथ बेहद खराब व्यवहार करने वाली उत्तर प्रदेश पुलिस अतीक अहमद को वीआइपी ट्रीटमेंट दे रही है। जेब नोट की गड्डी देखते ही एयरपोर्ट पर लगे सुरक्षा कर्मी अतीक के मुरीद होने लगे।

अतीक अहमद को अहमदाबाद जेल भेजने के बारे में उत्तर प्रदेश के पुलिस महानिदेशक ओपी सिंह ने बताया कि अतीक अहमद को कड़ी सुरक्षा के बीच अहमदाबाद भेजा गया है। वहां पर अतीक अहमद को अहमदाबाद जेल में रखा जाएगा। वहां पर अतीक अहमद की सुरक्षा तथा हरकत की मॉनिटरिंग एडीजी स्तर के अधिकारी करेंगे। अतीक अहमद पर यूपी पुलिस की नजर बनी रहेगी। 

अतीक का खर्च उठाएगी योगी सरकार 

बाहुबली अतीक को सुप्रीम कोर्ट के आदेशानुसार गुजरात तो भेजा जा रहा है, लेकिन अतीक पर होने वाले सभी तरह के खर्च का वहन यूपी सरकार को ही करना होगा। अतीक अहमद पर हर महीने लगभग एक लाख रुपए खर्च होंगे, जो उसके खाने पीने व अन्य व्यवस्था को लेकर होंगे। सरकार की ओर से तीन लाख रुपये की पहली किश्त भी गुजरात सरकार को जारी कर दी गई है। अतीक को गुजरात भेजे जाने के साथ अतीक युग के खात्मे का भी संकेत मिलने लगा है। लोकसभा चुनाव से ठीक पहले अतीक अहमद को नैनी सेंट्रल जेल भेजा गया था, 23 अप्रैल को सुप्रीम कोर्ट ने जेल में पिटाई की घटना और अतीक के अपराधिक इतिहास को देखते हुए गुजरात के किसी जेल में भेजने का आदेश दिया था। अतीक अहमद पर बसपा के विधायक रहे राजू पाल की हत्या का आरोप है। प्रयागराज के कई थानों में अतीक अहमद पर हत्या, अपहरण, रंगदारी, समेत कई दर्जन संगीन मामले दर्ज हैं।यहां से अतीक अहमद को को स्पाइसजेट के विमान एसजी-972 से अहमदाबाद भेजा गया। 

नैनी सेंट्रल जेल में था अतीक

अतीक अहमद पिछले एक महीने से प्रयागराज की नैनी सेंट्रल जेल में बंद था और हाल ही में उसे यहां ट्रासंफर करके लाया गया है, लेकिन अतीक के सेंट्रल जेल नैनी आने के साथ सुप्रीम कोर्ट ने एक मामले में सख्ती दिखाते हुए गुजरात जेल में ट्रांसफर करने का निर्देश दिया था। इसके पीछे की सबसे बड़ी वजह यह है कि देवरिया जेल में भी अतीक के बाहुबली छवि वाले कारनामे सामने आए थे, जहां से उसे बरेली जेल ले जाया गया। बरेली जेल पहुंचने के बाद अतीक ने खुद की जान को खतरा बताया और किसी भी वक्त हत्या की जाने की आशंका व्यक्त कर इस जेल से शिफ्ट करने की मांग की। अतीक की पत्नी की ओर से अतीक की तबीयत और सुनवाई के लिए आए दिन प्रयागराज तक का सफर पर सरकार से गुहार लगाई गई थी कि अतीक को नैनी जेल में शिफ्ट किया जाए। राज्य सरकार ने अतीक व उनकी पत्नी के आग्रह पर फैसला तो लिया, लेकिन इस बीच आचाार संहिता लग चुकी थी। जिसके कारण अतीक को शिफ्ट नहीं किया जा सकता था। राज्य सरकार ने चुनाव आयोग को प्रस्ताव भेजा था, जिसमें सभी कारणों को स्पष्ट करते हुए अतीक को नैनी सेंट्रल जेल में शिफ्ट करने की परमिशन मांगी गई थी। चुनाव आयोग ने अतीक को शिफ्ट करने का आदेश जारी किया। जिसके बाद अतीक को कड़ी सुरक्षा के बीच बरेली से प्रयागराज की नैनी सेंट्रल जेल ले आया गया है, लेकिन वह अब गुजरात भेजा गया है।

क्या है मामला

अतीक अहमद के जेल में हुकूमत चलाने की खबरों के बाद नैनी सेंट्रल जेल से अतीक को देवरिया जेल में ट्रांसफर किया गया था। जिसके बाद प्रयागराज तो कुछ शांत हुआ लेकन अतीक के कारनामे देवरिया जेल में भी शुरू हो गये। जहां पिछले साल दिसंबर में अतीक के गुर्गों ने आलमबाग के रियल एस्टेट कारोबारी मोहित जायसवाल को उनकी गाड़ी समेत घर से अगवा कर लिया था और देवरिया जेल में बंद अतीक की बैरक में ले जाया गया। जहां अतीक ने बेरहमी से मोहित को पीटा और कनपटी पर पिस्टल सटाकर मोहित की पांच कंपनियों का मालिकाना हक दो युवकों के नाम ट्रांसफर करवा लिया गया।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Dharmendra Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस