जौनपुर, जेएनएन। ग्राम व क्षेत्र पंचायत के रिक्त पदों के हुए उपचुनाव में पड़े मतों की गणना सोमवार को 18 ब्लाकों पर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच हुई। इस दौरान पांच ग्राम प्रधान, पांच बीडीसी व 380 ग्राम पंचायत सदस्य पद का परिणाम घोषित करते हुए विजयी को प्रमाण पत्र दिया गया। इसमें ज्यादातर सीटों पर जनता ने मृत हुए ग्राम प्रधान व बीडीसी सदस्यो के परिवारों को जीत दिलाई है। सुरक्षा के मद्देनजर भारी संख्या में पुलिस फोर्स तैनात रही। कोरोना संक्रमण को देखते हुए गणनास्थल पर मास्क, सैनिटाइजर व फेस कवर की व्यवस्था की गई थी।

ब्लाकों पर सुबह आठ बजे से मतगणना शुरू हुई। इसके लिए 26 टेबल लगाए गए थे। जलालपुर, डोभी, सुजानगंज, सिरकोनी, रामनगर, करंजाकला, सिकरारा व बक्शा ब्लाक में एक से ज्यादा पदों पर चुनाव हुआ था। यहां गणना के लिए दो टेबल लगाए गए थे। इसके अलावा अन्य ब्लाकों पर एक टेबल लगाए गए थे। मतगणना में कुल 104 कर्मी की ड्यूटी लगी थी। एक टेबल पर चार मतगणना कर्मी लगाए गए थे, इसमें पीठासीन अधिकारी, मतदान अधिकारी प्रथम, द्वितीय व तृतीय रहे।

विजयी प्रधानों का चुनाव परिणाम

सुजानगंज ब्लाक के सर्वेमऊ ग्राम पंचायत से प्रधान पद की प्रत्याशी रोशनी तिवारी ने 608 मत प्राप्त कर निकटतम प्रतिद्वंद्वी हीरावती को 276 मतों से पराजित किया। रोशनी तिवारी अपनी सांस की कमान संभालेंगी। बता दे कि उनकी सांस निशा तिवारी का चुनाव परिणाम आने से पहले निधन हो गया था। वहीं बरपुर से प्रधान पद की प्रत्याशी कुसुम 603 मत पाकर अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी नीता को 80 मतों से पराजित किया। यहां की प्रधान कमला त्रिपाठी भी चुनाव परिणाम आने के पूर्व दिवंगत हो गई थीं। हालांकि इनकी बहू नीता त्रिपाठी दूसरे नंबर पर थीं। जलालपुर के ग्राम पंचायत नहोरा से ऋषि राज यादव ने 1989 मत तो दूसरे नंबर पर बाबूराम पाल ने 1629 मत प्राप्त हुआ। ऋषिराज ने 360 मतों से प्रधान पद पर एक तरफा जीत दर्ज की। नहोरा गांव के निर्वाचित प्रधान रामधारी यादव का कोरोना के चलते निधन हुआ था। जिसके बाद यहां पर उपचुनाव कराया गया। जनता ने उनके पुत्र ऋषिराज यादव पर विश्वास जताते हुए चुनाव में जीत दिलाई। रामनगर ब्लाक के जयरामपुर ग्राम पंचायत में संजय ने 648 मत पाकर अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी रामआसरे को 136 मतों से पराजित किया। सिरकोनी ब्लाक से प्रधान पद के लिए नाथूपुर गांव में प्रधान पद पर सुचिता सिंह ने 905 मत तो निकटतम प्रतिद्वंद्वी अंदना सिंह को 606 मत मिले। सुचिता ने 239 मतों से चुनाव जीत लिया। यहां पर उनकी सांस दुर्गावती सिंह के निधन से सीट रिक्त हुई थी।

विजयी बीडीसी का परिणाम

जलालपुर ब्लाक के रेहटी गांव में क्षेत्र पंचायत के वार्ड संख्या 53 से प्रेमशीला ने 503 मत प्राप्त कर अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी रिंकी सोनकर को 264 मतों से पराजित किया। रिंकी सोनकर को 239 मत प्राप्त हुए। डोभी के बरडीहा में क्षमता ने लीला देवी को पराजित किया, क्षमता को 438 तो लीला को 370 मत मिले। वहीं बोदरी में सुनीता ने ममता को हराया, यहां सुनीता को 367 व ममता को 202 मत प्राप्त हुए। खुटहन ब्लाक के शेरपुर गांव के वार्ड नंबर 38 से क्षेत्र पंचायत सदस्य पद पर प्रहलाद मौर्य ने कुल 471 मत पाकर अपने प्रतिद्वंद्वी राहुल यादव को 24 मत से पराजित किया। इस सीट पर अनिला देवी चुनाव जीती थीं। हृदयगति रुकने से उनकी मौत के बाद उपचुनाव हुआ। उनके पुत्र राहुल यादव भी मैदान में रहे, लेकिन चुनाव हार गए। मुफ्तीगंज ब्लाक के कुंडी गांव में प्रिया राय ने कुल 458 मत तो निकटतम प्रतिद्वंद्वी रहिसुन 325 मत मिले। प्रिया ने रहिसुन को 133 मतों से पराजित कर जीत हासिल किया।

सुनील के पक्ष में गिरा सिक्का, हुए विजेता

सिकरारा ब्लाक के 10 गांवों में 30 वार्डों में हुए ग्राम पंचायत सदस्य के चुनाव में मतपत्रों की गणना सोमवार को कड़ी सुरक्षा के बीच हुई। सरायरैचंद गांव के वार्ड नंबर चार से ग्राम पंचायत सदस्य के पद पर मतगणना में दो प्रत्याशियों ने बराबर मत प्राप्त किया। चुनाव लड़ रहे सुनील कुमार व सुरेखा को 50-50 मत मिले। इस दौरान निर्वाचन अधिकारी कमलेश कुमार मौर्य ने टास कर फैसला किया। इसमें सुनील कुमार हेड बोलकर टास जीत गए।

शिकायत पर बदले गए सह पर्यवेक्षक

जलालपुर ब्लाक पर मतगणना के दौरान नहोरा के प्रधान पद के चुनाव में एक पक्ष ने सह पर्यवेक्षक बृजेश सिंह पर मतगणना में गड़बड़ी करने का आरोप लगाते हुए अपनी शिकायत जिला प्रशासन से की थी। इसके बाद आरो एनबी सिंह ने तुरंत सह पर्यवेक्षक बृजेश सिंह को हटाकर वहां दूसरे को तैनात किया।

 

Edited By: Saurabh Chakravarty