वाराणसी, जेएनएन। भारत में आस्‍ट्रेलिया के हाई कमिश्‍नर और भूटान के राजदूत बैरी ओफैरेल (Barry O’Farrell AO) अपने उत्‍तर प्रदेश के पहले आधिकारिक दौरे पर सोमवार को वाराणसी पहुंचे। वाराणसी आकर वह मंगलवार की सुबह गंगा में नौका विहार भी करने पहुंचे और सुबह ए बनारस का नजारा लिया। अपने वाराणसी प्रवास के दौरान वह काशी के विभिन्‍न मंदिरों और ऐतिहासिक स्‍थलों पर भ्रमण के अलावा तुलसी घाट से नौका विहार भी करने पहुंचे। इस दौरान उनके साथ बीएचयू से जुड़े पदाधिकारी और प्रशासन के लोग भी मौजूद रहे। 

उन्‍होंने बताया कि वाराणसी में आस्‍ट्रेलिया के गैर सरकारी संगठन की भागीदारी भारत में गंगा नदी की सफाई और रक्षा के लिए समर्पित है। हम विकास आधारित पहल के लिए स्‍वच्‍छ पानी के माध्यम से समुदाय और विशेष रूप से महिलाओं को सशक्त बनाने में उनका समर्थन करने के लिए सजगता से कार्य करेगा। 

बीएचयू के विज्ञान संस्थान स्थित महामना सभागार भवन में उनका अकादमिक कार्यक्रम भी मंगलवार को प्रस्‍तावित है। शिक्षण संस्‍थानों में शोध और दोनों देशों के विश्‍वविद्यालयों के बीच आपसी समन्वयन बढ़ाने को लेकर आयो‍जित कार्यक्रम में भी वह प्रतिभाग करेंगे। इस बाबत विश्वविद्यालय प्रशासन की ओर से आयोजन के बारे में भी बीएचयू पीआरओ और निदेशक की ओर से जानकारी दी गई है।

आस्‍ट्र्रेलिया के हाई कमिश्‍नर अपने पहले उत्‍तर प्रदेश के आधिकारिक दौरे पर वाराणसी में हैं। सबसे पहले वह प्रदेश दौरे में वाराणसी पहुंचे हैं। इस दौरान वह राजनीतिक व्‍यक्तियों के साथ मुलाकात के अलावा शिक्षण संस्‍थाओं और व्‍यापार को मजबूत करने के लिए औद्योगिक संस्‍थानों के प्रतिनिधियों से भी मुलाकात करेंगे। मंगलवार की सुबह गंगा में नौका विहार के अलावा उनका बीएचयू में शोध और दोनों विश्‍वविद्यालयों के बीच शोध को लेकर समन्‍वय पर भी परिचर्चा करेंगे। उन्‍होंने जानकारी दी है कि उत्‍तर प्रदेश भारत का एक महत्वपूर्ण राज्य है| उत्तर प्रदेश की अपनी पहली आधिकारिक यात्रा के लिए मैं उत्साहित हूं।