वाराणसी, जेएनएन। नगर आयुक्त गौरांग राठी ने तय किया है कि इस बार की देव दीपावली में आने वाले मेहमानों व श्रद्धालुओं का भव्य स्वागत किया जाएगा। तर्ज वही होगा जो प्रवासी भारतीय सम्मेलन के दौरान अपनी जड़ों को तलाशते हुए भारतीय मूल के लोग आए थे। प्राथमिक तैयारी के मद्देनजर दूधिया रोशनी में गंगा के पथ नहाएंगे। शहर का प्रवेश द्वार तिरंगा रंग में होगा जो राष्ट्र भक्ति के जज्बे को सातवें आसमान पर पहुंचाएगा।

पूरे नगर में रोशनी इस कदर बिखरेगी कि मेहमानों के मन का कोना-कोना रोशन हो जाएगा। देव दीपावली के मद्देनजर शहर को सजाने के लिए नगर आयुक्त गौरांग राठी ने सार्वजनिक अवकाश के बाद भी शनिवार को नगर निगम मुख्यालय में जिम्मेदार अफसरों को बुलाकर बैठक की। तय हुआ कि जिस प्रकार प्रवासी भारतीय सम्मेलन में नगर की सजावट हुई थी वैसे ही देव दीपावली पर सजावट की जाएगी। हां, फर्क इतना रहेगा कि उस बार रोशनी के लिए झालर, लाइटें आदि किराए पर लिए गए थे लेकिन इस बार ये जरूरी सामान नगर निगम खुद खरीद करेगा। इससे सजावट का कार्य हर वर्ष कम बजट में संभव हो सकेगा। नगर आयुक्त ने बताया कि तीन रंग में रोशनी के लिए लाइटों की खरीद की जाएगी। एयरपोर्ट से रास्ते नगर का प्रवेश द्वार तिरंगे रंग में होगा। कैंट रेलवे व बस स्टेशन भी जगमाएगा। सबसे खास होगा कि गोदौलिया से दशाश्वमेध घाट, आरपी घाट का रास्ता दूधिया रंग में रोशन होगा। ऐसे ही अस्सी को जाने वाले रास्ते पर भी दूधिया रोशनी बिखेरी। घाट, पेड़, हेडिटेज पोल आदि सभी सजाए जाएंगे। स्थानीय थीम के मुताबिक नगर के प्रमुख चौराहे भी रंगे जाएंगे।  

Posted By: Saurabh Chakravarty

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस