मीरजापुर, जेएनएन। जिले में कैलहट रेलवे स्टेशन पर गाड़ी संख्या 2505 नार्थ ईस्ट एक्सप्रेस के जेनरेटर यान में अचानक दोपहर में किसी वजह से भीषण आग लग गई। ट्रेन के जेनरेटर यान में आग लगने की यह घटना सुबह 11 बजकर 50 मिनट की है। आग लगने के बाद मौके पर कोई भी राहत न पहुंचने से जेनरेटर यान पूरी तरह जलकर खाक हो गया, इस हादसे के बाद हावड़ा-नई दिल्ली अप लाइन पर यातायात भी प्रभावित हो गया है। वहीं सुरक्षा कारणों से कैलहट स्टेशन के पहले ही ट्रेन खड़ी कर दी गई है।

आग की लपटें जेनरेटर यान से निकलने की जानकारी होते ही मौके पर हडकंप मच गया। सूचना के करीब घंटे भर बाद भी फायर ब्रिगेड की गाडी मौके पर नहीं पहुंच सकी जिससे जेनरेटर यान काफी ह‍द तक जल गया। हालांकि जेनरेटर यान को ट्रेन से बाद में काट कर अलग कर दिया गया है ताकि आग से अन्‍य बोगियों को नुकसान न हो सके। वहीं रेलवे अधिकारियाें के अनुसार रुट पर यातायात सामान्‍य करने के लिए प्रयास जारी है। हालांकि यातायात बाधित होने से दूसरे स्‍टेशनाें पर ट्रेनाें को रोक दिया गया है। 

ट्रेन की बाेगी में आग लगने की सूचना मिलते ही रेलवे प्रशासन में हड़कंप मच गया। हालांकि बाद में जानकारी हुई कि आग सिर्फ जेनरेटर यान में लगी है इसके बाद प्रशासन ने राहत की सांस ली। हादसे के बाद आसपास के लोग और जीएमआर कंपनी के टैंकर से आग बुझाने में लोग जुटे रहे। आग लगने की जानकारी होने के बाद रेलवे पायलट ने ट्रेन को रोकने के साथ ही ट्रेन से आग से प्रभावित होने वाले हिस्‍से को अलग कर दिया जिससे कोई बड़ा हादसा होने से बच गया। मौके पर चुनार, जमालपुर, अदलहाट पुलिस समेत जीआरपी व आरपीएफ के जवान सुरक्षा के लिए मौजूद रहे।

पीडीडीयू जंक्‍शन से दुर्घटना राहत यान व मेडिकल टीम रवाना : 2505 नार्थ ईस्ट एक्सप्रेस ट्रेन के इंजन के बगल मौजूद जनरेटर यान में अचानक आग लगने के बाद तत्परता दिखाते हुए कर्मचारी तत्काल आग पर काबू पाने में जुट गए। वहीं दूसरी ओर पीडीडीयू जंक्शन से दुर्घटना राहत यान व मेडिकल की टीम रवाना कर दी गई।डाउन नार्थ ईस्ट एक्सप्रेस ट्रेन के यात्री आग लगने की सूचना के बाद अपना अपना सामान लेकर ट्रेन से उतरने लगे। उधर जानकारी होते ही अधिकारियों के हाथपांव फूल गए। कर्मचारियों ने फायर विभाग को सूचना दी और खुद आग बुझाने में लगे गए। पीडीडीयू जंक्शन पर सायरन बजा तो आनन फानन रिलीफ ट्रेन और दुर्घटना राहत यान मौके के लिए रवाना हुई। स्टेशन मैनेजर नरेंद्र सिंह ने बताया कि मेडिकल यान के साथ लगभग 25 सदस्यीय चिकित्सकों की टीम मौके पर भेज दी गई है। टीम में सीएमएस डा. जीएस दुबे, डा. आरपी सिंह, डा. एके सिंह व एक महिला चिकित्सक के साथ पैरामेडिकल स्टाफ शामिल हैं।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Edited By: Abhishek Sharma

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट