वाराणसी, जागरण संवाददाता। Rudraksh Convention Center प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाथ से रुद्राक्ष कन्वेंशन सेंटर के लोकार्पण को लेकर काशीवासियों में जितना उत्साह था उतना ही उसकी बुकिंग को लेकर भी रुझान आ रहा है। लोकार्पण हुए एक दिन भी नहीं बीता कि बुकिंग के लिए पूछताछ केंद्र व्यस्त हो गया। अब तक जिन लोगों ने बुकिंग का भरोसा दिया है उसके अनुसार 23 जुलाई से लेकर 12 अगस्त तक करीब-करीब हर दिन समारोह होंगे। कंपनी ने बुकिंग का रेट तय कर दिया है। इसके लिए तीन घंटे का तीन लाख किराया निर्धारित हुआ है।

पार्टियों को आकर्षित करने के लिए स्कीम भी दी जा रही है। इसके तहत तीन घंटे की बुकिंग में एक घंटे अतिरिक्त दिया जाएगा। इसके अलावा ग्रीन रूम व अन्य सुविधाओं के उपयोग के लिए भी अतिरिक्त चार्ज नहीं देना होगा। हालांकि, यदि उपलब्ध 12 सौ कुर्सियों व साउंड सिस्टम के अतिरिक्त कुर्सी व सोफा के अलावा साउंड की मांग की जाएगी तो उसके लिए अलग से चार्ज देना होगा। हालांकि, अब तक किसी भी व्यक्ति या संस्था ने एडवांस नही दिया। इससे संचालन की जिम्मेदारी संभाल रही कंपनी आइएसडब्ल्यूएचसी (इंडियन सैनिटाइजेशन वार्डब्वाय एंड होटीकल्चर कांटेक्टर) व स्मार्ट सिटी कंपनी के अफसर यह बताने से इंकार कर दिया कि कौन से समारोह का आयोजन पहला होगा। वाराणसी स्मार्ट सिटी कंपनी ने निजी कंपनी आइएसडब्ल्यूएचसी से 10 वर्ष का अनुबंध किस है। इसके तहत निजी कंपनी संचालन, मरम्मत, व्यापार की जिम्मेदारी संभालेगी।

स्मार्ट सिटी कंपनी का 37 फीसद शेयर

इस रुद्राक्ष कन्वेंशन सेंटर से एक करोड़ का वार्षिक राजस्व का लक्ष्य रखा गया है। इसमें स्मार्ट सिटी कंपनी का 37 फीसद शेयर होगा। नगर आयुक्त व स्मार्ट सिटी कंपनी के सीईओ गौरांग राठी के अनुसार प्रारंभ में रुद्राक्ष की आय लक्ष्य के सापेक्ष संभव नहीं है। इसलिए चरणबद्ध तरीके से लक्ष्य की ओर बढ़ा जाएगा। इसके तहत न्यूनतम 35 लाख तो अधिकतम एक करोड़ रुपये वाॢषक राजस्व मिलने का अनुमान है। इस निधि को सुरक्षित अलग रखा जाएगा। शासन स्तर पर तय होगा कि इसे नगर निगम निधि में सम्मलित किया जाए या फिर अन्य मदों में आरक्षित रहे।

देश में नहीं ऐसा कन्वेंंशन सेंटर

जापान सरकार की अनुदानित राशि 186 करोड़ रुपये से बने रुद्राक्ष कन्वेंंशन सेंटर में जो आडिया विजुअल सिस्टम लगा है वैसा देश में कहीं नहीं है। मेक इन इंडिया का पूरा ध्यान में रखते हुए विश्व स्तरीय मानकों पर सुविधाएं प्रदान करने के लिए जापान व वियतनाम से भी सामान मंगाए गए हैं। मुख्य हाल में 12 सौ लोगों के बैठने की सुविधा है जिनके लिए वियतनाम से कुर्सियां मंगाई गई हैं। इसके अलावा कांफ्रेंस करने के लिए दो छोटे हाल हैं। एक गैलरी है जिसमें अंतरराष्ट्रीय स्तर की प्रदर्शनी लगाने की व्यवस्था है। कार पाॄकग, लाबी, लान आदि रुद्राक्ष की खूबसूरती में चार चांद लगा रहे हैं।

फेस्टिवल संग टूर पैकेज भी

बिजनेस के मद्देनजर व्यापक ब्लू प्रिंट बना है। पूरे उत्तर भारत को आकर्षित करने की योजना है क्योंकि यहां आने-जाने के लिए एयरपोर्ट के साथ ही रेल व सड़क मार्ग की बेहतरीन कनेक्टिविटी है। राष्ट्रीय स्तर के फिल्म फेस्टिवल, एवार्ड समारोह आदि आयोजन को आमंत्रित किया जाएगा। इसके साथ पर्यटन को बढ़ावा देने टूर पैकेज भी जोड़ जाएगा। समारोह में आने वाले पैकेज के तहत जल मोटर यान से गंगा में नौका विहार, श्रीकाशी विश्वनाथ दर्शन-पूजन, मान मंदिर, सारनाथ भ्रमण आदि का लाभ उठा सकते हैं।

 

Edited By: Saurabh Chakravarty