आजमगढ़, जागरण संवाददाता। संसदीय सीट के लिए हुए उपचुनाव के बाद रविवार सुबह आठ बजे से मतगणना शुरू होने के ठीक पहले समाजवादी पार्टी के नेता धर्मेंद्र यादव ने स्‍ट्रांग रूम की ओर रुख किया तो उनको रोक दिया गया। उनको रोकते ही वह पुलिस कर्मियों पर भड़क गए। आनन फानन प्रशासनिक अधिकारियों को हस्‍तक्षेत करना पड़ा। सुबह धर्मेंद्र यादव को स्‍ट्रांग रूम में नहीं जाने देने पर विवाद शुरू हो गया। इसके बाद डीएम विशाल भारद्वाज की अनुमति के बाद सपा प्रत्याशी धर्मेंद्र यादव को स्ट्रांग रूम में जाने दिया गया।

इस दौरान अकस्‍मात रोके जाने से धर्मेंद्र यादव भड़क गए और उन्‍होंने ईवीएम बदलने का आरोप लगाया। सपा प्रत्याशी धर्मेंद्र यादव ने प्रशासन ने ईवीएम बदलने का आरोप लगाया तो मौके पर विवाद शुरू हो गया। उन्होंने कहा कि मुझे स्ट्रांग रूम में नहीं जाने दिया जा रहा है। आरओ के टेबल भी अभी तक तैयार नहीं किए हैं। मुझे स्ट्रांग रूम में नहीं जाने दिया जा रहा है। हो-हल्ला मचने पर वह स्ट्रांग रूम के पास से बाहर आ गए। उनसे सुरक्षाकर्मियां की काफी नोकझोंक हुई। जानकारी होने के बाद डीएम विशाल भारद्वाज मौके पर पहुंचे तो अनुमति मिलने के बाद वह स्‍ट्रांग रूम की ओर बढ़ गए। 

उससे पूर्व मतगणना स्थल पर पहुंचे धर्मेंद्र यादव बेहद उत्साहित नजर आ रहे थे। उन्होंने दम भरा कि जीतेंगे हम ...। आजमगढ़ की जनता ने हमारे लिए चुनाव लड़ा है। हमने एक पखवाड़े के कम समय में ही जान लिया था, आजमगढ़ की जनता समझदार है। यहां का संगठन मजबूत है, एक-एक कार्यकर्ता खुद का चुनाव समझ पूरी ताकत झोंके रहा। पार्टी मुखिया अखिलेश यादव के चुनाव प्रचार में न आने की बात पर कहा कि वे इस बात से आश्वस्त थे कि आजमगढ़ की जनता सपा के साथ है, वह मुझे जिता रही है। लोकसभा उपचुनाव के नामांकन वाले दिन धर्मेंद्र यादव के आजमगढ़ पहुंचने पर सपा ने उनके चुनाव लड़ने का पत्ता खोला था।

संसद में ईवीएम पर उठाएंगे सवाल : सपा प्रत्याशी धर्मेंद्र यादव करीब साढ़े सात हजार वोटों से आगे होने के बाद मीडिया के लिए बयान जारी किए। उन्होंने कहा कि दाे सौ फीसद चुनाव जीतूंगा और ईवीएम से चुनाव न कराए जाने की मांग संसद में उठाऊंगा। करीब डेढ़ लाख मतों की गिनती में धर्मेंद्र यादव काे 51380, भाजपा को 43833 और बसपा 40331 वोट पा सके हैं। धर्मेंद्र ने कहा कि ईवीएम पर सपा हमेशा सवाल उठाती रही है। इससे पूर्व उन्होंने सुबह प्रशासन पर ईवीएम बदलने का आरोप लगाया था। वह स्ट्रांग रूम में जाने से रोकने पर भड़के थे। आरओ के टेबल भी नहीं लगाए जाने पर नाराज थे। हालांकि हो-हल्ला मचने और डीएम की अनुमति पर वह स्ट्रांग रूम में जा पाए। उनसे सुरक्षाकर्मियां की काफी नोकझोंक हुई थी। धर्मेंद्र यादव सुबह से ही उत्साहित नजर आ रहे थे। उन्होंने दम भरा था कि जीतेंगे हम ...। वे शुरुआत में आगे पीछे चल रहे थे, लेकिन फिर आगे हुए 10 हजार तक बढ़त बनाने के बाद फिर से घटने लगे हैं।

Edited By: Abhishek Sharma