वाराणसी, जेएनएन। हर साल की तरह इस बार भी कोरोना महामारी के बीच आइआइटी-बीएचयू के छात्रों पर जमकर धन वर्षा होने वाली है।  एक दिसंबर की आधी रात से कैंपस प्लेसमेंट की प्रक्रिया जोर-शोर से शुरू हो चुकी है। संस्थान के ट्रेनिंग एंड प्लेसमेंट सेल द्वारा अभी तक कोई आंकड़ा नहीं जारी हुआ है, मगर अंदरखानों कर माने माने तो पिछले बार की ही तरह से लाखों से लेकर देढ़-दो करोड़ तक के आफर मिलने के संकेत हैं।  इस बार अमेरिका, कनाडा व अन्य यूरोपीय कंपनियों द्वारा साक्षात्कार आनलाइन प्लेटफार्म पर ही लिया जा रहा है। इसमें आइआइटी में बीटेक और एमटेक के सभी अंतिम वर्ष के छात्रों द्वारा हिस्सेदारी की जा रही है। इस साल करीब 35 से 40 कपनियां सेलेक्शन के लिए आइआइटी के छात्रों का साक्षात्कार लेंगी, जिनमें गूगल, माइक्रोसाफ्ट, इंटेल, अमेरिकन एक्सप्रेस, इंफोसिस,  सैमसंग, अडोब, ओरेकल, गोल्डमैन सैक, डी शा, सिस्को, आइटीसी, उबर, अमेजन, ओरेकल, टेक्सास व मोर्गन स्टैनले समेत कई बड़ी मल्टी नेशनल कंपनियां शामिल हैं।विशेषज्ञों का अनुमान है कि पिछले बार की तरह इस बार भी कुछ छात्रों को पचास लाख से करोड़ों तक के आफर मिल सकते हैं। पिछले साल कुल 188 छात्रों का सेलेक्शन हुआ था, इस बार महामारी के कारण यह संख्या घट भी सकती है। इससे पहले आइआइटी का सत्र शुरू होने के बाद अक्टूबर में ही करीब 149 छात्रों को प्री-प्लेसमेंट और 276 को इंटर्नशिप के आफर मिल चुके हैं। प्री-प्लेसमेंट के तहत सबसे अधिक पैकेज 51 लाख और सबसे कम करीब साढ़े छह लाख रु गया था। आइआइटी बीएचयू में अब तक का सबसे बेहतर 2.27 करोड़ का सालाना पैकेज वर्ष 2015 में ओरेकल कंपनी द्वारा दिया गया था।

 

Edited By: saurabh chakravarti