मऊ, जागरण संवाददाता। योगी सरकार के दोबारा सत्‍ता में आने के बाद से ही माफ‍िया पर कार्रवाई का दौर जारी है। इसी कड़ी में मऊ में मुख्‍तार के करीबी एक कारोबारी की अवैध संपत्ति पर सोमवार को बुलडोजर चलाया गया। इसके पूर्व रविवार को गाजीपुर जिले में मुख्‍तार की मां की तीन करोड़ रुपये की संपत्ति पर भी कार्रवाई की जा चुकी है। मऊ में सोमवार की कार्रवाई के बाद से मुख्‍तार समर्थकों और करीबियों में हड़कंप है। 

पूर्वांचल में योगी सरकार के निशाने पर पूर्व विधायक मुख्तार अंसारी का सिंडिकेट है। एक दिन पूर्व जहां गाजीपुर में मुख्तार अंसारी के 3.50 करोड़ की लागत वाले मां के घर को प्रशासन ने बुलडोजर से नेस्तनाबूत कर दिया तो सोमवार को जनपद में प्रशासन ने बड़ी कार्रवाई की। मुख्तार अंसारी के करीबी गणेश मिश्रा की आफिसर्स कालोनी भुजौटी स्थित लगभग पांच एकड़ में लगभग 60 करोड़ की हो रही प्लाटिंग पर प्रशासन का बुलडोजर गरजा। सुरक्षा की दृष्टि से मौके पर कई थानों की पुलिस फोर्स के साथ सिटी मजिस्ट्रेट त्रिभुवन व सीओ सिटी धनंजय मिश्र उपस्थित थे।

पूर्व विधायक मुख्तार अंसारी के करीबी गणेश मिश्रा द्वारा अवैध तरीके से कमाई गई संपत्ति का निवेश कर यश विक्रम अनीता देवी प्रीति वर्कशीट इंफ्रा डेवलपर्स प्राइवेट लिमिटेड डायरेक्टर विजय कुमार आदि के नाम पर भूमि खरीद कर भुजौटी में अवैध तरीके से कालोनी और प्लाटिंग की गई है। हालांकि इस पर प्रशासन ने पहले ही रोक लगा रखा था। सोमवार को सिटी मजिस्ट्रेट व सीओ सिटी के नेतृत्व में प्रशासन बुलडोजर के साथ पहुंचा। बुलडोजर से अवैध प्लाटिंग को एक-एक कर ध्वस्त किया गया। यह प्लाटिंग लगभग पांच एकड़ भूमि पर किया गया है। इसका बाजारू मूल्य लगभग 60 करोड़ रुपये आंका जा रहा है। इस कार्रवाई के बाद प्रशासन अवैध प्लाटिंग और कालोनी विकसित करने वालों को चिह्नित करने में जुटा है। इस कार्रवाई के दौरान अधिशासी अधिकारी नगर पालिका तथा इंजीनियर विनियमित क्षेत्र उपस्थित थे।

Edited By: Abhishek Sharma