महासंग्राम रैली

----------

-पहले लखनऊ फिर दिल्ली में सत्तारूढ़ होने को राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कार्यकर्ताओं में भरा जोश

वाराणसी, नगर प्रतिनिधि :भाजपा ने हिंदुत्व व राम मंदिर का मुद्दा छोड़ भ्रष्टाचार, महंगाई, बेरोजगारी, किसानों की समस्याओं को अपना एजेंडा बना लिया है। वाराणसी के बेनियाबाग से पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष नितिन गडकरी समेत अन्य दिग्गजों ने केंद्र व प्रदेश सरकार के खिलाफ हुंकार भरी। सभी ने एक स्वर से कहा देश व प्रदेश में सुशासन सिर्फ भाजपा ही देने में सक्षम है। पहले लखनऊ फिर दिल्ली में भाजपा को सत्तारूढ़ करने के लिए पार्टी कार्यकर्ता कमर कसकर मैदान में उतर जाएं। इसके लिए गांव-गांव ही नहीं वरन हर घर के दरवाजे तक जाकर जनता की सेवा करें।

गडकरी ने अपने लगभग बीस मिनट के भाषण में कांग्रेस व बसपा के साथ सपा पर भी जमकर तीर छोड़े। कहा दिल्ली में लूट मची है तो लखनऊ में मायावती महालूट में लिप्त हैं। स्पेक्ट्रम घोटाला, कामन वेल्थ खेलों में घोटाला के बारे में प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह कहते हैं कि उन्हें इस बारे में कुछ नहीं मालूम। अगर, प्रधानमंत्री को नहीं तो अमेरिका को मालूम होगा कि हिंदुस्तान में क्या हो रहा है। कर चोरी कर 22 लाख करोड़ रुपये विदेशी बैंकों में जमा किया गया है। विदेशी बैंकों में कालाधन जमा करने वालों का नाम सार्वजनिक करने में कांग्रेस इंकार कर रही है। क्योंकि उसे डर है कि अगर उसने कालाधन जमा करने वालों का नाम उजागर किया तो उसका मुंह काला हो जाएगा। भाजपा अध्यक्ष ने देश की मौजूदा स्थिति की चर्चा करते हुए दावा किया कि 2014 के लोकसभा चुनाव में एनडीए को बहुमत मिलेगा और केंद्र में उसकी सरकार बनेगी। इसके बाद विदेशी बैंकों में जमा काला धन हिंदुस्तान लाकर उससे विकास कार्य कराए जाएंगे। भुखमरी, महंगाई, बेरोजगारी का संबंध सरकार की गलत आर्थिक नीतियों, आर्थिक कुप्रबंधन व भ्रष्टाचार से है। हर साल 58 हजार करोड़ रुपये का खाद्यान्न देश में सड़ जाता है। दूसरी ओर सरकार महंगे दर पर खाद्यान्न का आयात करती है। कांग्रेस पर हमला करने में कोई कसर नहीं छोड़ा। कहा कांग्रेस देश को लूट रही है। उसके शासन में आतंकवादी देश में घुस कर घटनाएं कर रहे हैं। चीन से सटी हिंदुस्तान की सीमा असुरक्षित है। नक्सली निरपराधों की हत्या कर रहे हैं। आतंकवाद पर अंकुश लगाने के बजाय यूपीए सरकार तुष्टिकरण की राजनीति में लिप्त है। इस सरकार में दम ही नहीं है कि वह आतंकवाद से लड़ सके। आतंकवाद से लड़ने को तो शिवाजी व राणाप्रताप के आदर्शोँ वाली सरकार चाहिए। ऐसी सरकार सिर्फ भाजपा ही दे सकती है। गडकरी ने महाराष्ट्र में अपने मंत्रित्वकाल में हुए विकास की भी चर्चा की। बोले, विकास के लिए टेक्नोलाजी या पैसे की नहीं बल्कि दृष्टि की जरूरत होती है। उत्तर प्रदेश के हालात का जिक्र करते हुए भाजपा अध्यक्ष ने कहा यहां की जनता भू्रखी व कंगाल हो चुकी है। कानून-व्यवस्था की धज्जियां उड़ रही हैं। प्रदेश में गुंडाराज कायम है। बसपा व सपा दोनों ही कांग्रेस के साथ है। दोनों ही दलों के मुखिया सीबीआई जांच के डर से ऐसा कर रहे हैं। वे लखनऊ में कुश्ती व दिल्ली में कांग्रेस से दोस्ती करते हैं। गडकरी ने कहा कि उत्तर प्रदेश को विकास के रास्ते पर ले जाने के लिए जातीय राजनीति को त्यागना होगा। सपा में भाई, भतीजा आदि ही महत्वपूर्ण ओहदों पर हैं। कांग्रेस का अध्यक्ष पद तो गांधी परिवार के लिए आरक्षित ही है। मनमोहन सिंह प्रधानमंत्री तो हो सकते हैं लेकिन वह कांग्रेस अध्यक्ष का सपना भी नहीं देख सकते। इसके विपरीत भाजपा लोकतांत्रिक ढांचे वाली पार्टी है। गडकरी ने भ्रष्टाचार के खात्मे के लिए खुद के आचरण को भी दुरुस्त रखने की सीख दी।

रैली में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष व प्रदेश के मुख्यमंत्री रह चुके राजनाथ सिंह ने कहा देश व प्रदेश संकट के दौर से गुजर रहा है। केंद्र की यूपीए सरकार की अर्थव्यवस्था पर से पकड़ समाप्त हो चुकी है। महंगाई बढ़ी है और ऐसा पहली बार नहीं हुआ है। कांग्रेस जब भी सरकार में रही है महंगाई बेकाबू हुई है। इस स्थिति के लिए सपा व बसपा भी बराबर की जिम्मेदार हैं। महंगाई कम करने के लिए जरूरी है कि किसानों का उत्पादन बढ़ाया जाए। ऐसा गैर भाजपा दलों के शासन में नहीं किया गया। विकास के माडल में गांव व किसान कभी रहे ही नहीं। भ्रष्टाचार में लिप्त राजनेता मुख्यमंत्री पद पर काबिज हैं और जो नहीं हैं वे इसके लिए दावेदार बने हुए हैं जबकि नैतिकता का तकाजा है कि भ्रष्टाचार का आरोप जिस पर लगे उसे राजनीति को ठोकर मारकर घर बैठ जाना चाहिए। प्रदेश में विकास के नाम पर जनता के साथ क्रूर मजाक किया जा रहा है। उन्होंने कार्यकर्ताओं का आह्वान किया कि वे रैली से मिले संदेश की मशाल लेकर यहां से लौटें। हर घर के दरवाजे तक जाएं और प्रदेश में सरकार बदलने का अभियान चलाएं।

लोकलेखा समिति के अध्यक्ष व स्थानीय सांसद डॉ. मुरली मनोहर जोशी ने भ्रष्टाचार के खात्मे, भयमुक्त समाज के लिए दृढ़ इच्छा शक्ति की जरूरत बताई। कहा, प्रधानमंत्री भ्रष्टाचार खत्म करने का वचन देते हैं लेकिन उसे पूरा नहीं करते हैं। यही नहीं वह यह भी कहते हैं कि उनको जितना दोषी समझा जाता है उतने नहीं है। लेकिन वह जितने दोषी हैं उसकी सजा तो उन्हें मिलनी ही चाहिए। जोशी ने पश्चिमी विकास के माडल को भ्रष्टाचार का मूल कारण बताया। कहा कि हिंदुस्तान का विकास जनता की राय से होना चाहिए। रैली में भाजपा उपाध्यक्ष कलराज मिश्र, विनय कटियार, मुख्तार अब्बास नकवी, प्रदेश अध्यक्ष सूर्यप्रताप शाही, विधानमंडल दल नेता ओमप्रकाश सिंह ने भी संबोधित किया। अध्यक्षता क्षेत्रीय अध्यक्ष देवेंद्र सिंह चौहान, संचालन प्रदेश महामंत्री डॉ. महेंद्रनाथ पांडेय व स्वागत महापौर कौशलेंद्र सिंह ने किया।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर