Move to Jagran APP

अलीगढ़ और उन्नाव में आस्था पर चोट कर अमन को आग लगाने की कोशिश

अलीगढ़ और उन्नाव में बुधवार को धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाक माहौल बिगाडऩे की कोशिश की। एक शिव मंदिर और एक देवी माता मंदिर अराजकतत्वों का निशाना बना।

By Nawal MishraEdited By: Published: Wed, 25 Jul 2018 06:50 PM (IST)Updated: Thu, 26 Jul 2018 07:12 AM (IST)
अलीगढ़ और उन्नाव में आस्था पर चोट कर अमन को आग लगाने की कोशिश

लखनऊ (जेएनएन)। अलीगढ़ और उन्नाव में बुधवार को धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाक माहौल बिगाडऩे की कोशिश की। उन्नाव के गंगाघाट इलाके में मंदिर में शिवलिंग उखाड़ दिया गया और अन्य देवी-देवताओं की मूर्ति उलट-पलट दी गई। मंदिर में गंदगी भी फैलाई गई। अलीगढ़ के धौरी गांव मंदिर में स्थापित दुर्ग मूर्ति तोड़ी गई। इस जिले में लगातार दो दिन में यह तीसरा मंदिर निशाना बनाया गया है। दोनों ही जिलों में हंगामा हुआ तो पुलिस ने लोगों ने समझाबुझाकर शांत करा दिया।

loksabha election banner

शिवलिंग पलटा और देवी-देवताओं की मूर्तियां लुढ़काईं

गंगाघाट क्षेत्र में धोबिनपुुलिया के पास स्थित मंदिर में बुधवार तड़के घुसे आरोपितों ने मंदिर में गंदगी फैलाई और तोड़फोड़ की। सुबह मंदिर की हालत देख माहौल बिगड़ा तो पुलिस अधिकारियों ने लोगों को शांत करा सेवादार की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर एक को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू की है। धोबिन पुलिया के पास स्थित मंदिर में करीब 15 वर्षों से विजय अवस्थी सेवादार हैं। वह मंदिर में ही रहकर भगवत भजन करते हैं। 

मंदिर में ही फैलाई गंदगी 

मंदिर में शिवलिंग के साथ दुर्गा जी और शनिदेव की मूर्ति हैं। बुधवार तड़के कुछ लोग मंदिर में घुसे और शिवलिंग के साथ अन्य मूर्तियों को पलट दिया। इतना ही नहीं शरारती तत्वों ने मंदिर में ही गंदगी की। सुबह नींद खुलने पर सेवादार विजय अवस्थी जैसे ही मंदिर पहुंचे, नजारा देख सन्न रह गए। उन्होंने आसपास के लोगों को जानकारी दी तो सैकड़ों की भीड़ मंदिर में जमा हो गई। आस्था के साथ शरारत देख लोगों में आक्रोश फैल गया। अभी लोग सड़क पर उतरने की योजना बनाते स्थानीय पुलिस मौके पर पहुंच गई और माहौल बिगड़ता देख उच्चाधिकारियों को मामले की जानकारी दी। 

दो लोगों के खिलाफ मुकदमा

सीओ सिटी फोर्स लेकर मौके पर पहुंचे और गुस्साए लोगों को कड़ी कार्रवाई का भरोसा दिलाकर शांत कराया।सेवादार ने पुलिस को बताया भोर पहर चार बजे करीब पड़ोस में रहने वाले राहुल पुत्र रघुवीर, रज्जन पुत्र प्रेम को मंदिर से भागते देखा। उनसे समझा कि मंदिर में लोग पूजा करने आए है पर सुबह नजारा देख वह सब समझ गया। पुलिस ने सेवादार विजय अवस्थी की तहरीर पर दोनों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर रज्जन को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू की है। 

अलीगढ़ में मां दुर्गा की मूर्ति तोड़ी

अलीगढ़ के अकराबाद क्षेत्र में मंगलवार रात धौरी गांव में माता मंदिर में स्थापित मां दुर्गा की मूर्ति तोड़ दी गई। लगातार दो दिन में यह तीसरा मंदिर निशाना बनाया गया, लेकिन पुलिस कोई कार्रवाई नहीं कर सकी। इससे भड़के लोगों ने आरोपितों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर लोगों ने जमकर हंगामा किया। अधिकारियों ने कार्रवाई व नई मूर्ति लगवाने का आश्वासन देकर लोगों को शांत किया। बाद में दो मामले दर्जकर कुछ लोगों से पूछताछ भी की। बुधवार सुबह श्रद्धालु माता के मंदिर गए तो दुर्गा मां की मूर्ति खंडित मिली। भीड़ एकत्रित हो गई। लोगों का कहना था कि दो दिन से मंदिरों को निशाना बनाया जा रहा है। सोमवार की रात अकराबाद कस्बे के मंदिर आदिनारायण मंदिर में शिवपरिवार की मूर्तियां तथा धौरी मार्ग रोड पर मंदिर भïट्टेश्वर में मां लक्ष्मी जी की मूर्ति तोड़ी गई। शिकायत पर पुलिस ने कहा कि किसी नशेड़ी ने मूर्तियां तोड़ दी हैं। पुलिस पर शिथिलता का आरोप लगाते हुए लोगों ने नारेबाजी। 

दो मामले दर्ज 

अकराबाद थाने में बुधवार को तीन मंदिरों की मूर्तियों को खंडित किए जाने के दो मामले दर्ज किए गए। अकराबाद के मंदिर आदिनारायण व धौरी मार्ग स्थित भïट्टेश्वर महादेव मंदिर में मूर्ति खंडित किए जाने का मामला कस्बे के अमित प्रताप सिंह की ओर से दर्ज किया गया है। इसके लिए तहरीर मंगलवार को ही दे दी गई थी। धौरी के मंदिर में मूर्ति खंडित करने का मामला प्रधान मीरारानी के पति पूरन सिंह ने दर्ज कराया है। थाना प्रभारी संजीव कुमार दुबे ने बताया कि पहले लगा था कि किसी नशेड़ी ने नशे में मूर्ति खंडित कर दो होगी, लेकिन लगातार दूसरे दिन भी ऐसा घटना होना किसी साजिश का हिस्सा हो सकती है। मामले दर्ज कर लिए गए हैं। कुछ स्थानों पर दबिश दी गई है और कई लोगों से पूछताछ की गई है। 


Jagran.com अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरेंWhatsApp चैनल से जुड़ें
This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.