सुलतानपुर, संवाद सूत्र। टप्पेबाजी के मामले में संदेह के आधार पर हिरासत में लिए गए भाजपा (आइटी सेल) के स्थानीय मंडल संयोजक को जंजीर से बांधकर रखा गया। उनकी पिटाई करने के साथ ही थर्ड डिग्री देने का भी आरोप लगा है। इस आरोप को उस फोटो से भी बल मिल रहा है, जो किसी ने प्रसारित किया है। दैनिक जागरण के पास यह तस्वीर उपलब्ध है। पुलिस की इस कारगुजारी से भाजपाई आक्रोशित हैं। वहीं, विधायक ने कोतवाल को जमकर फटकार लगाई।

बीते शुक्रवार को बनके गांव निवासी ओमप्रकाश सिंह ने बैंक से साढ़े तीन लाख रुपये निकाले थे। ब्लाक के पास किसी कार्य के लिए रुक गए और बाइक एक दुकान के सामने खड़ी कर दी। इसी बीच मौका देख टप्पेबाजों ने डिक्की तोड़कर उसमें रखे रुपये उड़ा दिए। पूरी घटना सामने स्थित एक दुकान के सीसी कैमरे में कैद हो गई। पुलिस ने रात में आइटी सेल संयोजक शिवम को संदेह के आधार पर हिरासत में ले लिया।

आरोप है कि पुलिस ने पिटाई करने के साथ ही जंजीर से बांधकर काफी टार्चर किया। शनिवार सुबह इसकी जानकारी हुई तो भाजपा के महामंत्री घनश्याम चौहान, मंडल अध्यक्ष भूपेन्द्र पाठक, सर्वेश सिंह, राजेश सिंह, प्रदीप कुमार बग्गा, व्यापार मंडल अध्यक्ष घनश्याम जायसवाल कोतवाली पहुंच गए। इन लोगों ने पिटाई का कारण जानना चाहा, साथ ही पदाधिकारी को छोड़े जाने की मांग की।

वहीं, देर शाम विधायक राजेश गौतम ने प्रभारी निरीक्षक को अतिथि गृह में तलब किया। शिवम को हिरासत में लेने और थर्ड डिग्री देने के बारे में पूछा। सही जवाब न मिलने पर उन्होंने जमकर फटकार लगाई। कहा कि यदि किसी कार्यकर्ता से इस तरह का व्यवहार किया जाएगा तो अन्य लोग थाने में कैसे आएंगे। विधायक ने कहा कि पूछताछ के लिए किसी को इस तरह बंद कर नहीं रखा जाता। न ही यातना दी जा सकती है।

सीओ बोले-नहीं की गई पिटाई : हिरासत में लिए गए युवक की पिटाई नहीं की गई है। मामले की जांच की जा रही है, जो भी तथ्य पाए जाएंगे, उसके अनुरूप कार्रवाई की जाएगी। हिरासत में लिया गया युवक घटना में शामिल था या नहीं, कुछ अभी कह नहीं सकते। - शिवम मिश्र, सीओ कादीपुर

Edited By: Vrinda Srivastava

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट