जागरण संवाददाता, सोनभद्र : मिशन शक्ति अभियान के तहत मंगलवार को महिला बीट पुलिस अधिकारियों ने अपने-अपने गांवों में जाकर महिलाओं से संवाद स्थापित किया। इस कार्यक्रम का मूल उद्देश्य महिलाओं/ बेटियों को स्वावलंबी और सुरक्षित बनाना है। इसके अलावा उनके अधिकारों के संबंध में जागरुक करने व उनके साथ घटित होने वाले अपराधों पर प्रभावी रोकथाम करना है। पुलिस अधीक्षक अमरेंद्र प्रसाद सिंह ने बताया कि मिशन शक्ति अभियान का तृतीय चरण जनपद में चलाया जा रहा है। इसी क्रम में मंगलवार को जनपद की समस्त थानों में महिला आरक्षियों ने महिलाओं के साथ संवाद स्थापित किया।

डाला : मिशन शक्ति कार्यक्रम के तहत मंगलवार को स्थानीय मलिन बस्ती व बारी-डाला में पुलिस ने जन चौपाल लगाया। इस दौरान महिला सुरक्षा, सम्मान, स्वावलंबन एवं वर्तमान परिवेश आदि के विषय में बात की गई। चौकी प्रभारी मनोज कुमार ठाकुर ने जन चौपाल के दौरान महिलाओं से कहा कि महिलाएं अपनी अंदर छुपे हुए डर व झिझक को निकालें। अपने अधिकारों को पहचाने और आगे बढ़कर अपने व आसपास की महिलाओं के हितों की सुरक्षा करें। इस दौरान महिलाओं से महिला पुलिस कर्मी द्वारा उनकी समस्याओं को सुना गया। महिलाओं के विरुद्ध हो रहे अपराध एवं घरेलू हिसा उत्पीड़न के संबंध में जागरूक किया गया है। उन्होंने बताया कि महिलाएं अपनी समस्याओं को खुलकर नहीं बता पाती हैं, इसलिए मिशन शक्ति के तहत प्रत्येक थाने पर एक महिला हेल्प डेस्क बनाया गया है। इस मौके पर अशोक कुमार बिद, पुनीत सिंह, दीपक वर्मा, माधवी सिंह, निधि सिंह आदि रहे। यह है योजना

हेल्पलाइन नंबर 1090 वूमेन पावर लाइन, 181 महिला हेल्प लाइन, 108 एंबुलेंस सेवा, 1076 मुख्यमंत्री हेल्पलाइन, 112 पुलिस आपातकालीन सेवा, 1098 चाइल्ड लाइऩ, 102 स्वास्थ्य सेवा आदि के बारे में जागरूक किया गया। प्रत्येक थानों पर महिला शिकायतकर्ता के लिए स्थापित महिला हेल्प डेस्क के बारे में भी विस्तार से जानकारी दी गई।

Edited By: Jagran