सोनभद्र (जेएनएन)। भदोही में दो दिन पूर्व रेल ट्रैक पर हादसे के बाद भी कुछ लोग मानने को तैयार नहीं। आज तो तब हद हो गई जब एक ट्रैक्टर चालक अपने वाहन को रेल ट्रैक पर ही दौड़ाने लगा। सोनभद्र में भरुहां स्थित मानवरहित रेलवे क्रासिंग को पार करने के बाद एक चालक अपने ट्रैक्टर को लाइन पर ही दौड़ाने लगा। उसी समय इंटरसिटी एक्सप्रेस को आना था लिहाजा मुस्तैद गैंगमैन की नजर उसपर पड़ गई और शोर मचाते हुए उसने ट्रैक्टर को रोक दिया। गैंगमैन ने इसकी सूचना आरपीएफ को दी। भीड़ बढ़ती देख चालक ट्रैक्टर को ट्रैक पर ही छोड़कर फरार हो गया।

सुबह गैंगमैन पटरी की देखरेख करने के लिए चुनार-चोपन रेलखंड के भरुहां स्थित २६ सी के समीप पहुंचा। उसने देखा कि एक ट्रैक्टर खेत की जोताई करने के लिए हल लगाए दक्षिण की ओर तेजी से ट्रैक से ही जा रहा है। उसे देखते ही गैंगमैन घबरा गया। उसी समय सिंगरौली से आने वाली इंटरसिटी एक्सप्रेस का समय हो गया था। इस पर गैंगमैन ने तत्काल तेज आवाज लगाकर चालक को ट्रैक्टर रोकने को कहा। उसकी आवाज सुनकर आसपास के लोग भी हो हल्ला मचाने लगे। इस दौरान चालक घबराकर ट्रैक्टर को ट्रैक पर रोककर फरार हो गया। गैंगमैन ने इसकी सूचना खैराही के स्टेशन मास्टर सुनील कुमार को देने के साथ ही आरपीएफ को दी। जहां पहुंची आरपीएफ ने ट्रैक्टर को लोगों की मदद से ट्रैक से हटाने के साथ ही कब्जे में ले लिया। बताया गया कि ट्रैक्टर ऐलाही गांव निवासी दयाराम का था। जिसे उसने कुछ दिन पूर्व बेच दिया था।

उत्तर प्रदेश के राजनीतिक समाचारों के लिए यहां क्लिक करें

उत्तर प्रदेश के अन्य समाचार पढऩे के लिए यहां क्लिक करें

बोले स्टेशन मास्टर

खैराही के स्टेशन मास्टर सुनील कुमार ने बताया कि मुझे किसी ने सूचना नहीं दी। काफी देर बाद जब जानकारी हुई तो पता कराया गया। उस दौरान ट्रैक साफ था। अभी कोई कार्रवाई नहीं की गई है।

गेट मित्र की नहीं पड़ी नजर

भरुहां स्थिति मानवरहित रेलवे क्राङ्क्षसग पर गेट मित्र हरिश्याम की तैनाती की गई है। जिस समय ट्रैक पर ट्रैक्टर पहुंचा उसकी ड्यूटी थी लेकिन उस समय वह कहां था, इसे लेकर कई चर्चा थी।

Posted By: Nawal Mishra