Move to Jagran APP

Misrikh Lok Sabha Result 2024: म‍िश्र‍िख लोकसभा सीट का चुनावी रण, बीजेपी के अशोक रावत ने दर्ज की जीत

Misrikh lok sabha Chunav Result Live सात मई को गृहमंत्री अमित शाह ने सीएसएन कालेज में भाजपा प्रत्याशी जयप्रकाश रावत के साथ ही मिश्रिख प्रत्याशी अशोक रावत की जीत सुनिश्चित करने के लिए जनसभा को संबोधित किया। जनसभा में लाखों की भीड़ जुटी और नतीजे भी सकारात्मक आए। भाजपा के दोनों प्रत्याशियों को जीत मिली रैली का आयोजन करने वाली हरदोई विधानसभा ने जीत में अहम भूमिका निभाई।

By Vinay Saxena Edited By: Vinay Saxena Mon, 03 Jun 2024 04:35 PM (IST)
Misrikh Lok Sabha election Result 2024: बीजेपी के अशोक रावत ने दर्ज की जीत।

डि‍जिटल डेस्‍क, नई द‍िल्ली। आम चुनाव में स्टार प्रचारकों ने भी अहम भूमिका निभाई, चुनावी नतीजों को अपने पक्ष में करने के लिए गृहमंत्री अमित शाह के साथ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव व मायावती ने भी जनसभा की।

सात मई को गृहमंत्री अमित शाह ने सीएसएन कालेज में भाजपा प्रत्याशी जयप्रकाश रावत के साथ ही मिश्रिख प्रत्याशी अशोक रावत की जीत सुनिश्चित करने के लिए जनसभा को संबोधित किया। जनसभा में लाखों की भीड़ जुटी और नतीजे भी सकारात्मक आए।

भाजपा के दोनों प्रत्याशियों को जीत मिली, रैली का आयोजन करने वाली हरदोई विधानसभा ने जीत में अहम भूमिका निभाई। पांच मई को हरदोई लोकसभा क्षेत्र की शाहाबाद विधानसभा क्षेत्र में व छह मई को मिश्रिख लोकसभा क्षेत्र की मल्लावां विधानसभा क्षेत्र में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भाजपा प्रत्याशियों के पक्ष में मतदान की अपील की।

भाजपा ने दोनों ही लोकसभा क्षेत्रों को फतह किया, पर शाहाबाद और मल्लावां विधानसभा क्षेत्र से भाजपा प्रत्याशी निर्णायक बढ़त न ले सके।सपा राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के लिए भी मिला जुला असर रहा। सांडी विधानसभा क्षेत्र के लखपेड़ा बाग में उनकी जनसभा का असर कहा जाएगा वहां से सपा प्रत्याशी ने 2684 मतों की मामूली बढ़त ली पर लोकसभा चुनाव जीत न सकीं।

संडीला विधानसभा क्षेत्र की रैली भी बेअसर साबित हुई। जनसभा के बावजूद विधानसभा क्षेत्र से सपा प्रत्याशी पर भाजपा प्रत्याशी को 25 हजार से अधिक मतों की बढ़त मिली। मायावती की जनसभा भी कोई प्रभाव न डाल सकी। बसपा के दाेनों प्रत्याशियों को हार का सामना करना पड़ा, बसपा कोई भी विधानसभा क्षेत्र में बढ़त न ले पाई।

मिश्रिख लोकसभा सीट

1962 में संसदीय सीट के रूप में वजूद में आई म‍िश्र‍िख सीट अभी तक अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित रही है। मिश्रिख लोकसभा सीट के तहत पांच विधानसभा सीटें बालामऊ, संडीला, बिल्हौर, मिसरिख और मल्लावां विधानसभा सीटें आती हैं। इनमें मिश्रिख सीतापुर जिले से पड़ता है तो बिल्हौर कानपुर और बाकी तीन सीटें हरदोई जिले में पड़ती हैं।

2014 के चुनाव में मोदी लहर के सहारे में भाजपा की अंजू बाला ने चुनाव जीता। इस सीट पर भाजपा अभी तक महज दो बार ही जीत हासिल कर सकी है। 2019 के लोकसभा चुनाव में मिश्रिख लोकसभा सीट पर 13 उम्मीदवार मैदान में थे। मुख्य मुकाबला बीजेपी के अशोक कुमार रावत और बसपा की डॉक्टर नीलू सत्यार्थी के बीच था। इस चुनाव में बीजेपी के अशोक कुमार रावत ने जीत दर्ज की थी। भाजपा ने एक बार फ‍िर उनपर भरोसा जताया है।