सीतापुर : शारदा नदी मेउड़ी छोलहा और घाघरा दुर्गापुरवा में तेजी से कटान कर रही है। सोमवार को मेउड़ी छोलहा में अनवर अली का भी घर कटकर शारदा नदी की धार में बह गया। ग्रामीणों का कहना है कि कटान रोधी कार्यों की गति बहुत ही कमजोर है। कटान और कार्य की यदि यही स्थिति रही तो नदी गांव में घुस जाएगी।

वहीं, घाघरा दुर्गापुरवा गांव में कटान कर रही है। बिसवां तहसीलदार अविचल प्रताप सिंह ने बताया, नदियों की कटान की गति तेज है। शारदा नदी के दाएं किनारे पर स्थित मेउड़ी छोलहा गांव में कटान तेज है। हालांकि सिचाई अधिकारी कटान पर काबू पाने की कोशिश में हैं। अधिशासी अभियंता सिचाई विशाल पोरवाल ने गांव वालों को भरोसा दिया है कि वह कटान नहीं होने देंगे। बताया, उन्होंने सोमवार को भी नदी के कटान क्षेत्र का जायजा लिया है। कटानरोधी कार्य की गति को बढ़ाया है। बंबूक्रेट, गेवियन रोप में ब्रिक रोड़ा भरकर नदी किनारे डाला जा रहा है। अभियंता ने बताया, इन दिनों मेउड़ी छोलहा में कटान रोकन का कार्य 24 घंटे हो रहा है। रात में जनरेटर लगाकर कार्य हो रहा है। अभियंता ने बताया, फ्लड फाइटिग कार्य किए जाने से कटान की स्थिति नियंत्रण में है। मेउड़ी छोलहा के अनवर अली का भी घर कटकर शारदा की धार में बह गया। अधिकारियों के भरोसे पर शांत हैं ग्रामीण, अभियंता बोले दिन-रात चल रहा कार्य। कटान और कार्य की यदि यही स्थिति रही तो नदी गांव में घुस जाएगी।

बनबसा बैराज से डिस्चार्ज

शारदा नदी - 68,147 क्यूसेक

घाघरा नदी- 1,20,424 क्यूसेक

Edited By: Jagran