सिद्धार्थनगर : शुक्रवार को स्वदेशी जागरण मंच के तत्वावधान में किसान सम्मेलन का आयोजन किया गया। पदाधिकारियों ने कृषि कानून पर किसानों का भ्रम दूर करने का प्रयास किया। लोगों से स्वदेशी अपनाने की अपील की गई।

राष्ट्रीय संगठन मंत्री कश्मीरी लाल ने कहा कि मेहनत से पसीना बहाया जा सकता है। दिमाग से धन कमाया जाता है। किसान अगर मेहनत के साथ दिमाग लगा कर व्यापारिक खेती करना शुरू कर दे तो वह लाखों कमा सकता है। इसके अलावा सरकार कृषि कानून के सहारे किसानों का आय दो गुना करना चाहती है। विपक्ष कृषि कानून के बारे में देश को गुमराह कर रहा है। स्वदेशी मंच किसानों के साथ है। सरकार को व्यवस्था करनी चाहिए कि न्यूनतम समर्थन मूल्य पर ही सरकारी केंद्र के अलावा आढ़तिया भी किसानों का उपज तौल करें। ऐसा न करने पर कार्रवाई का प्रविधान किया जाय। कहा कि वर्तमान समय में देश को आत्मनिर्भर बनाने के लिए हम सभी का सहयोग अति आवश्यक है। स्वदेशी जागरण मंच इस अभियान को स्थापना के बाद से ही निरंतर चला रहा है। आज स्वदेश की निर्मित वस्तुओं की गुणवत्ता काफी अच्छी हो गई है। सांसद जगदम्बिका पाल ने कहा कि केंद्र व प्रदेश सरकार निरंतर देश व किसानों का हित चाहती है। किसानों के लिए तमाम लाभकारी योजनाएं संचालित हैं। भाजपा के पूर्व जिलाध्यक्ष लालजी, राम कुमार कुंवर, हियुवा के जिला महामंत्री अजय सिंह, कार्यक्रम संयोजक कौशलेंद्र त्रिपाठी, साधना चौधरी आदि ने भी संबोधित किया। संचालन गोरखपुर विभाग के संयोजक लालकेश्वर मणि त्रिपाठी ने किया। केपी सिंह, तारकेश्वर मणि त्रिपाठी, सूर्य प्रकाश पांडेय, योगेंद्र जायसवाल आदि मौजूद रहे।