जेएनएन, शाहजहांपुर : राष्ट्रीय मुस्लिम मंच से जुड़े छत्तीसगढ़ निवासी फैज के भूमि पूजन समारोह में प्रतिभाग के विरोध के लिए निकले अखिल भारतीय संत परिषद के राष्ट्रीय संयोजक यति नरसिंहानन्द सरस्वती महाराज को पुलिस ने उनके शिष्यों के साथ शाहजहांपुर में रोक दिया। उन्हें कस्टडी में लेकर गाजियाबाद के लिए भेज दिया। हिदू शक्ति दल ने मामले को लेकर मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन सिटी मजिस्ट्रेट को सौंपकर पांच अगस्त को मुस्लिम युवक को प्रतिभाग से रोकने की मांग की है।

गाजियाबाद के शिवशक्ति पीठ दासना के संस्थापक यति नरसिंहानन्द सरस्वती महाराज बुधवार रात को यहां पहुंचे थे। वह चौक सीता की मठिया स्थित उदासीन पंचायती अखाड़ा में ठहरे थे। दोपहर 12 बजे प्रेसवार्ता के बाद उन्होंने अयोध्या कूच का एलान किया था। एलआइयू की सूचना पर सिटी मजिस्ट्रेट विनीता सिंह, सीओ प्रवीण कुमार फोर्स के साथ सीता की मठिया पहुंच गए। उन्होंने संत को कस्टडी में ले लिया। संत की प्रेसवार्ता पर भी रोक लगा दी। स्थानीय उदासीन पंचायती अखाड़ा के महंत मथुरादास के आग्रह पर पुलिस ने भोजन की छुट दे दी। अपराह्न एक बजे पुलिस यति नरसिंहानन्द सरस्वती तथा उनके शिष्य यति सत्यदेवानंद सरस्वती व यति सेवानंद सरस्वती को लेकर गाजियाबाद रवाना हो गई। स्थानीय हिदू नेता भी भी उन्हें बरेली मोड़ तक छोड़ने गए। यति नरसिंहानन्द सरस्वती ने कहा कि कि श्रीरामजन्म भूमि जन्मभूमि को सर्वधर्म समभाव का प्रतीक बनाने का अर्थ लाखों हिन्दुओ के बलिदान को नकारना होगा जो कि धर्म मानवता के विपरीत है। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ रायपुर निवासी तथा राष्ट्रीय मुस्लिम मंच के फैज के भूमि पूजन में शामिल होने का वह विरोध करते रहें। सिटी मजिस्ट्रेट को ज्ञापन देने वालों में अंतरराष्ट्रीय हिदू परिषद गोसेवा प्रमुख कृष्ण कुमार सक्सेना, मुनिराज सिंह, विवेक मिश्रा, अर्पित गुप्ता, अंकित मिश्रा, पुनीत त्रिवेदी, अरविद मिश्रा, आशीष शुक्ला, मुकेश पाठक, श्याममोहन, सत्यम वर्मा, सचिन रस्तोगी, देव गुप्ता, आशीष गुप्ता, शोभित गुप्ता आदि शामिल रहे। यति नरसिंहानन्द सरस्वती भूमि पूजन समारोह में एक व्यक्ति के शामिल होने का विरोध कर रहे हैं। शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए संत व उनके शिष्य को रोककर गाजियाबाद आश्रम के लिए भेज दिया गया है।

विनीता सिंह, सिटी मजिस्ट्रेट

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप