धनघटा : अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर ग्रामीण क्षेत्र की महिलाओं ने नशा मुक्ति के लिए पूर्व बार एसो. की अध्यक्ष शांता श्रीवास्तव के नेतृत्व में रैली निकाल कर लोगों को बुरी आदत से दूर रहने के लिए जागरूक किया। मुख्यमंत्री व प्रधानमंत्री को संबोधित ज्ञापन नायब तहसीलदार को सौंप कर तंबाकू, गुटखा, शराब पर रोक लगाने की मांग की।

रैली पुरानी तहसील बाग से निकल कर धनघटा चौराहा, टेम्हा, बंडा, रूपीन आदि चौराहों पर पहुंच कर लोगों को नशा से मुक्त करने के लिए जागरूक किया। लोगों से कहा कि पान मसाला, गुटखा,तंबाके खाना से तमाम जान लेवा बीमारियां होती है। जिसके चलते तमाम तमाम गरीबों के परिवार उजड़ जा रहे है। रैली विभिन्न चौराहों से घूम कर आने के बाद फिर तहसील मे पहुंची जहां नशे के आदी हो रहे युवाओ के बुरी आदत से बर्बाद हो रहे परिवारों के बचाने के लिए पान मशाला,गुटखा,शराब के बनाने व बिक्री पर रोक लगाने की मांग के साथ मुख्यमंत्री व प्रधान मंत्री को संबोधित ज्ञापन सौपा। फिर रैली तहसील पुरानी बाग मे जा कर सभा के रूप मे परिवर्तित हो गई। सभा को संबोधित करते हुए शांता श्रीवास्तव ने कहा कि आज समाज मे पान मशाला व नशा के चलते हर माह क्षेत्र के नौ जवान बीमार हो रहे है। कुछ तो गरीबी के चलते दवा भी नही करवा पा रहे है। इसके साथ ही नशा के चलते गांवों मे विवाद भी होते रहते है। जिसका खामियाजा महिलाओं को भुगतना पडता है। घर उनके बर्वाद हो जाते है। ऐसे हाल मे वह अपने घर के नौजवानों को इस बुरी आदत से दूर रहने के लिए प्ररित करे। जिससे समाज की बुराई को दूर किया जा सके। इस मौके पर नीता प्रजापती, संगीता पाठक, मालती देवी, इंद्रावती, ज्योति ¨सह, शीला देवी, चंपा देवी, पूनम देवी सहित सैकड़ों महिलाएं मौजूद रहीं। इसी प्रकार शनिचरा बाजार में भी महिला दिवस के अवसर पर कार्यक्रम का आयोजन नीलम श्रीवास्तव की मौजूदगी में किया गया।