सहारनपुर, जेएनएन। खान आलमपुर यार्ड में ट्रेनों से उतरने वाले क्लिकर से आसपास के रहने वाले लोग काफी समय से परेशान हैं। जिस समय क्लिकर ट्रेन से उतरता है तो पूरे आसपास के क्षेत्र में डस्ट फैल जाती है। यह डस्ट बीमार और बुजुर्ग लोगों को काफी नुकसानदायक साबित हो रही है। नार्थन रेलवे मेंस यूनियन के पदाधिकारियों ने सोमवार को क्लिकर को लेकर विरोध जताया।

नार्थन रेलवे मेंस यूनियन के अध्यक्ष विजय कुमार ने बताया कि खान आलमपुर यार्ड में ट्रेनों से उतरने वाले क्लिकर को बंद कर दिया गया था। अब फिर से ट्रेनों से क्लिकर को लाया जा रहा है। यूनियन के पदाधिकारियों का कहना है कि खान आलमपुर यार्ड के समीप रेलवे कालोनी है। यहां पर रेलवे के ही कर्मचारी रहते हैं। क्लिकर यहां पर उतरने के कारण जो डस्ट फैल रहा है, उससे लोगों को त्वचा संबंधी रोग, संास संबंधी रोग आदि पैदा हो रही है। आरोप है कि वह कई बार रेलवे के अधिकारियों से मांग कर चुके हैं कि क्लिकर को किसी ऐसे स्थान पर उतारा जाए, जहां पर आबादी न हो। सोमवार को इसी के विरोध में खान आलमपुर स्टेशन पर यूनियन के पदाधिकारियों ने विरोध प्रदर्शन किया, जिसमें सुशील कुमार, प्रशांत कुमार, मनीष कुमार, पंकज कुमार, विजय कुमार, सुनील कुमार आदि मौजूद रहे।

एक दिन का पद ग्रहण कर छात्राओं ने निभाई जिम्मेदारी

नकुड़ : अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर रामदूत कालेज की छात्राओं को एक दिन के लिए विद्यालय के विभिन्न पदों पर नियुक्त किया गया। छात्राओं ने स्टाफ में नियुक्त होकर अपने कार्यों को बखूबी अंजाम दिया। सोमवार को रामदूत कालेज में बीएससी की छात्रा सुमैया लाटरी प्रक्रिया के माध्यम से एक दिन की प्राचार्य बनाई गई। सुमैया ने प्राचार्य की कुर्सी पर बैठते ही सख्त प्रशासनिक रवैया अपनाया और स्टाफ व छात्राओं को समय के सदुपयोग और अनुशासन का पाठ पढ़ाया। इसी प्रकार छात्रा वंदना को चीफ प्रोक्टर, सविता को विज्ञान संवाय की अध्यक्ष, जूही शर्मा को शिक्षा संकाय बनाया गया। छात्राओं ने महिला सशक्तिकरण की दिशा में विद्यालय की इस पहल की प्रशंसा की। डायरेक्टर मयंक चौधरी, प्राचार्य डा. एनपी राठौर, प्रदीप कुमार, हर्षिता, अमित कुमार, संजय कुमार आदि रहे।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021