सहारनपुर जेएनएन। स्मार्ट सिटी बोर्ड के चेयरमैन व कमिश्नर संजय कुमार ने अधिकारियों को निर्देश दिये हैं कि पांवधोई व ढमोला नदियों पर किये गए अतिक्रमण को हटाया जाए। इसके लिए निगम के अलावा पुलिस-प्रशासन, सिचाई विभाग के अधिकारी एक टीम बनाकर संयुक्त रुप से कार्य किया जाए। शहर के तीनों पुलों चतरा पुल, सब्जी मंडी व दालमंडी पुल के चौड़ीकरण का कार्य भी तुरंत शुरु करने के निर्देश दिए। कमिश्नर ने बोर्ड बैठक में स्मार्ट हेल्थ सेंटर, स्मार्ट रोड, प्रभुजी की रसोई, सीवरेज, सोलिड वेस्ट मैनेजमेंट, जुबली पार्क मल्टीलेवल पार्किंग, वर्टिकल गार्डन, पेंट माई सिटी अभियान, अंबेडकर स्टेडियम, मंडी समिति रोड के विकास संबंधी परियोजनाओं के बारे में भी जानकारी ली।

कमिश्नर संजय कुमार ने अनेक योजनाओं के टेंडर और वर्क आर्डर होने के बावजूद अभी तक उन पर कार्य शुरु न होने पर नाराजगी जताते हुए कहा कि इन योजनाओं पर अक्तूबर माह के अंत तक हर हाल में कार्य शुरु हो जाना चाहिए। उन्होंने स्मार्ट सिटी का कार्य संभाल रही कंपनी पीएमसी के अधिकारियों से कहा कि उनकी जो टीम परियोजनाओं को क्रियान्वित करेगी उसे तुरंत बुलाएं और कार्य शुरु कराएं। उन्होंने शहर के पांचों प्रमुख मार्गों पर बनने वाले प्रवेश द्वारों को भी शीघ्र बनाए जाने के आदेश दिए।

मेला गुघाल क्षेत्र का होगा विकास

मेला गुघाल क्षेत्र के विकास के लिए बनायी गयी योजना में मेला गुघाल के निकट पुल के पास फैला अतिक्रमण हटाया जाएगा। मार्गो पर दो गेट, फव्वारा, सड़कें, डिवाइडर, पेयजल आदि की बेहतर व्यवस्था तथा मानकमऊ में नदी पटरी का विकास करने के साथ ही वहां सुरक्षा के लिए कैमरे भी लगाये जाएंगे। उन्होंने खाताखेडी में बनाये जाने वाले शापिग काम्पलेक्स के निर्माण से पूर्व वुडकार्विंग एसोसिएशन से परामर्श करने का सुझाव दिया। मोक्ष धाम भी होगा विकसित

स्मार्ट सिटी निदेशक व पूर्व कमिश्नर आरपी शुक्ल के सुझावों को गंभीरता से लेते हुए उन्होंने बताया कि बाबालाल दास बाड़ा, हाजी शाह कमाल और फुलवारी आश्रम को को-एकीकृत कर एक सर्किट के रुप में विकसित किया जाएगा तथा पास ही स्थित मोक्ष धाम को भी विकसित किया जाएगा। उन्होंने बताया कि दो संस्थाओं से उन्हें सहमति मिल गयी है, एक संस्था से अभी सहमति लेनी है।

Edited By: Jagran