मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

सहारनपुर : महाराणा प्रताप ¨सह जयंती के नजदीक आते ही भीम आर्मी सतर्क हो गई है। बाकायदा डीएम-एसएसपी को ज्ञापन देकर चेतावनी दी कि यदि राजपूत समाज को कार्यक्रम की अनुमति दी गई तो अंजाम सही नहीं होगा। यदि कोई अप्रिय घटना हुई तो इसका जिम्मेदार प्रशासन होगा।

भीम आर्मी भारत एकता मिशन के जिला अध्यक्ष कमल वालिया के नेतृत्व में शुक्रवार को कार्यकर्ता पहले डीएम दफ्तर और फिर एसएसपी कार्यलय पहुंचे। ज्ञापन देकर चेताया कि, गांव रामनगर में राजपूत भवन है, जहां पिछले साल नौ मई को बवाल हो गया था। इसलिए हम चाहते हैं कि इस बार राजपूत समाज को कार्यक्रम के लिए अनुमति न दी जाए। यदि राजपूत समाज ने उक्त स्थल पर कार्यक्रम किया तो कोई भी अप्रिय घटना हो सकती है, जिसका जिम्मेदार सीधे-सीधे प्रशासन होगा। कमल वालिया ने एसएसपी को बताया कि जब देवबंद में बाबा साहब भीम राव आंबेडकर की जयंती की अनुमति देने के बाद निरस्त की गई तो राजपूत समाज को भी अनुमति नहीं मिलनी चाहिए। इसके अलावा हसनपुर चौक पर कांशीराम की प्रतिमा तो देहरादून चौक पर आंबेडकर की प्रतिमा लगाने की मांग की। ज्ञापन देने वालों में राष्ट्रीय प्रवक्ता मनजीत ¨सह नोटियाल, प्रवीण गौतम, विनोद प्रधान, विजय कुमार, विकास, अक्षय, जयकरण, सम्राट, महेश, सचिन आदि शामिल थे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप