Move to Jagran APP

Rahul Gandhi से मिलीं शहीद अंशुमान की मां, कहा- बंद की जाए अग्निवीर योजना; 3 दिन पहले मिला कीर्ति चक्र

शहीद अंशुमान सिंह की मां मंजू सिंह ने राहुल गांधी से रायबरेली में मुलाकात की। उन्होंने कुछ दिन पहले राहुल गांधी से मिलने की इच्छा जाहिर की थी। उन्होंने कहा कि अग्निवीर योजना को खत्म किया जाना चाहिए। सेवा में ऐसा नहीं होना चाहिए कि 4 साल में ही किसी को रिटायर कर दिया जाए बल्कि सैन्य कर्मियों की सुविधाएं बढ़ाई जानी चाहिए।

By Jagran News Edited By: Aysha Sheikh Tue, 09 Jul 2024 08:40 PM (IST)
Rahul Gandhi से मिलीं शहीद अंशुमान की मां, कहा-  बंद की जाए अग्निवीर योजना; 3 दिन पहले मिला कीर्ति चक्र
शहीद अंशुमान सिंह की मां ने राहुल गांधी से की मुलाकात

जागरण संवाददाता, रायबरेली। बलिदानी कैप्टन अंशुमान सिंह के माता-पिता ने मंगलवार को रायबरेली दौरे पर पहुंचे कांग्रेस सांसद व नेता विपक्ष राहुल गांधी से मुलाकात की। बलिदानी की मां मंजू सिंह ने राहुल से अग्निपथ योजना बंद करने की मांग की। उन्होंने कहा कि यह योजना कतई सही नहीं है। उनके पति भी सेना से सेवानिवृत हुए। सेना में ऐसा नहीं होना चाहिए कि चार साल में ही किसी को रिटायर कर दिया जाए, बल्कि सैनिकों की सुविधाएं बढ़ाई जानी चाहिए।

उन्होंने इस बात पर संतोष जताया कि पहले के मुकाबले सैनिकों को अधिक पैसे और सुविधाएं मिल रही हैं। हाल ही में राष्ट्रपति भवन में आयोजित समारोह में 26वीं बटालियन आर्मी मेडिकल कोर के अंशुमान सिंह को मरणोपरांत कीर्ति चक्र प्रदान किया गया था। उनकी मां व पत्नी ने सम्मान ग्रहण किया था। मूलरूप से देवरिया निवासी मंजू सिंह ने बताया कि समारोह में उन्होंने राहुल गांधी से मिलने की इच्छा जताई थी। उन्होंने कहा कि सदन में उनके भाषण से वह प्रभावित थीं, इसीलिए वह उनसे मिलना चाह रही थीं।

राहुल ने जल्द मुलाकात करने का वादा किया था। राहुल गांधी ने उनसे कहा है कि अग्निपथ योजना समाप्त करने के लिए जो बन पड़ेगा, वह करेंगे। रक्षामंत्री राजनाथ सिंह से भी बात करेंगे। मंजू सिंह ने कहा कि राहुल अगर आगे उस ओहदे पर बैठेंगे या विपक्ष में भी रहेंगे तो निश्चित तौर पर अग्निपथ योजना के लिए कुछ करेंगे। राजनाथ सिंह और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी लगातार कुछ न कुछ सकारात्मक कर रहे हैं। अंशुमान बड़े बेटे थे, उन पर बड़ी जिम्मेदारी थी। दुख इस बात का है कि वह इस समय छोड़कर गए जब हमें उनकी सबसे अधिक जरूरत थी।

अंशुमान के पिता भी फौज में रहे हैं, उस समय बहुत अधिक तनख्वाह नहीं रहा करती थी, हमने उस दौर में उन्हें पढ़ाया-लिखाया। अंशुमान के पिता रविप्रताप ने बताया कि राहुल गांधी ने सांत्वना दी और कहा कि आपके साथ पूरा देश है। इससे पहले सुबह राहुल गांधी को फुरसतगंज हवाई अड्डे पर उतरना था, लेकिन वह लखनऊ एयरपोर्ट उतरे और सड़क मार्ग से अपने संसदीय क्षेत्र के लिए रवाना हुए। रास्ते में उन्होंने चुरुवा हनुमान मंदिर दर्शन-पूजन किया। उसके बाद शहीद स्मारक जाकर पुष्पांजलि अर्पित की।

— Hemendra Tripathi 🇮🇳 (@hemendra_tri) July 9, 2024

रायबरेली में जगह-जगह लगे होर्डिंग व पोस्टर, राहुल गांधी जवाब दो

कांग्रेस नेता राहुल गांधी के आगमन को लेकर कांग्रेसियों में जहां उत्साह था तो वहीं जगह-जगह होर्डिंग और पोस्टर लगाए गए थे, जिसमें राहुल गांधी से संसद में हिंदुओं पर दिए गए बयान को लेकर सवाल किए गए। पोस्टर लगाने वालों ने सांसद से चार सवालों का जवाब मांगा।

इसमें राहुल से पूछा गया कि आपको अपना अमूल्य मत देने वाला रायबरेली का हिंदू मतदाता क्या हिंसक है, आप किस धर्म के हो, स्पष्ट करो, आप हिंदू धर्म को मानते हो या नहीं, रायबरेली का हिंदू मतदाता आपको भविष्य में वोट क्या गाली खाने के लिए देगा। इससे जुड़े पोस्टर भी कई स्थानों पर लगे देखे गए, जिसे लेकर तमाम तरह की चर्चाएं होती रहीं। यह भी स्पष्ट नहीं हो सका कि पोस्टर किसने लगवाए थे, हालांकि पोस्टर लगवाने वाले के नाम को लेकर लोगों में कयास जरूर लगाए जाते रहे।

ये भी पढ़ें - 

'राहुल गांधी बहुत डरते-डरते आए...', नेता प्रतिपक्ष के रायबरेली दौरे पर ये क्या बोल गए BJP नेता