Move to Jagran APP

अशरफ की कुर्क जमीन की पैमाइश करेगी राजस्व टीम, जांच के बाद मकान बनाने वालों के खिलाफ होगी कार्रवाई

उत्‍तर-प्रदेश की योगी सरकार अपराधियों को लेकर काफी सख्त है। योगी सरकार अपराधियों के अवैध तरीके से बनाए गए घर पर बुलडोजर चलवाने में संकोच नहीं करती है। ऐसा ही मामला प्रयागराज से आया है। माफिया खालिद अजीम उर्फ अशरफ की कुर्क हुई जमीन का मामला है। अब इस जमीन की पैमाइश राजस्व विभाग की टीम करेगी। उसी आधार पर मकान बनाने प्लाटिंग करने वालों के विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी।

By Tara Gupta Edited By: Riya Pandey Tue, 09 Jul 2024 08:51 PM (IST)
अशरफ की कुर्क हुई जमीन पर कुछ लोगों के मकान बनवाने का मामला

जागरण संवाददाता, प्रयागराज। माफिया खालिद अजीम उर्फ अशरफ की कुर्क हुई जमीन की पैमाइश अब राजस्व विभाग की टीम करेगी। अभिलेखों की भी जांच की जाएगी और उसी आधार पर मकान बनाने, प्लाटिंग करने वालों के विरुद्ध कानूनी कार्रवाई की जाएगी। पैमाइश व जांच के लिए पुलिस की ओर से राजस्व विभाग को रिपोर्ट भेजी गई है। इससे पहले पुलिस ने प्रयागराज विकास प्राधिकरण (पीडीए) और डीएम को रिपोर्ट भेजी थी।

एयरपोर्ट थाना क्षेत्र के शाहा उर्फ पीपलगांव में माफिया अशरफ की जमीन थी। वर्ष 2008 में उस जमीन को गैंगस्टर एक्ट के तहत कुर्क किया गया था। जमीन पर कुर्की से संबंधित बोर्ड भी लगाया गया था, ताकि लोगों को उसके बारे में जानकारी हो सके। मगर उस जमीन कुछ लोगों ने मकान बनवा लिया। इसके साथ ही प्लाटिंग भी कर ली थी।

कुर्क की गई जमीन के लिए SDM को बनाया गया था प्रशासक

ऐसा तब हुआ था, जब कुर्क की गई जमीन के लिए एसडीएम को प्रशासक नियुक्त किया गया था। मगर पुलिस की ओर से चलाए जा रहे ऑपरेशन जिराफ के तहत कुर्क प्रापर्टी पर अवैध निर्माण का पता चलने पर पीपलगांव चौकी इंचार्ज ने एयरपोर्ट थाने में मुकदमा दर्ज कराया था।

अभिलेखों की जांच में चलेगा पता

अधिकारियों का कहना है कि गैंगस्टर एक्ट के तहत कुर्क की गई पूरी जमीन की पैमाइश राजस्व की टीम करेगी और अपनी रिपोर्ट बनाएगी। अभिलेखों की जांच से पता चलेगा कि किसने और किस आधार पर किसको जमीन विक्रय की थी। सभी तथ्यों और साक्ष्यों को जुटाने के बारे कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

यह भी पढ़ें- Prayagraj News: माफिया अशरफ की कुर्क जमीन पर बनवा लिया मकान, अब दर्ज हो रहा केस