Move to Jagran APP

Prayagraj News: माफिया अशरफ की बीवी जैनब के मकान पर चला बुलडोजर, अतीक गैंग के लोगों में मची खलबली

प्रयागराज में अतीक और अशरफ ने अपने गुर्गों के जरिए सफाईकर्मी श्यामजी सरोज के नाम पर नैनी में जमीन ली थी। बाद में उस जमीन को बेचने के लिए श्यामजी पर दबाव बनाया गया था। पुलिस की ओर से छानबीन के बाद अब बेनामी संपत्ति को जब्त किए जाने की बात कही गई है। माफ‍िया की मौत के बाद से ही पुलिस लगातार बेनामी संपत्‍त‍ि खोजकर उजागर कर रही है।

By Jagran News Edited By: Vivek Shukla Thu, 20 Jun 2024 03:52 PM (IST)
बुलडोजर चलने से हड़कंप मच गया है। जागरण

जागरण संवाददाता, प्रयागराज। उमेश पाल हत्याकांड में वांछित माफिया अशरफ की पत्नी जैनब फातिमा के मकान को गुरुवार को ढहा दिया गया। 25 हजार की इनामी जैनब फातिमा ने सल्लाहपुर में सुन्नी वक्फ बोर्ड की जमीन पर दो मंजिला आलीशान मकान बनवाया था। प्रयागराज विकास प्राधिकरण (पीडीए) से बिना नक्शा पास करवाए बने मकान के ध्वस्तीकरण से अतीक और अशरफ के करीबियों में खलबली मच गई है।

अशरफ की पूरामुफ्ती थाना क्षेत्र के हटवा गांव में ससुराल है। जहां अशरफ की बीवी जैनब फातिमा ने अपने भाई जैद मास्टर और सद्दाम के सहयोग सुन्नी वक्फ बोर्ड की जमीन पर कब्जा कर दो मंजिला आलीशान मकान बनवाया था। वक्फ बोर्ड की ओर से कुछ माह पहले पूरामुफ्ती थाने में जैनब, जैद, सद्दाम समेत कई के खिलाफ धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज कराया था।

इसे भी पढ़ें-'इंस्पेक्टर साहब से बात हो गई है...विकास दूबे की तरह गोली मारेंगे', बरेली पुलिस को मिली धमकी

इसमें जैनब पर वक्फ बोर्ड की करीब 50 करोड़ की जमीन पर कब्जा करने व कूटरचित अभिलेख तैयार कर उसे बेचने का आरोप लगाया गया था। पुलिस ने प्रकरण की जांच शुरू की तो अवैध रूप से बनाए गए मकान, दुकान समेत कई संपत्तियों का पता चला, जिसकी रिपोर्ट पीडीए को भेजी गई थी।

पीडीए ने नोटिस जारी कर संबंधित को पक्ष रखने के लिए बुलाया लेकिन कोई पेश नहीं हुआ। तब ध्वस्तीकरण का आदेश पारित हुआ। डीसीपी सिटी दीपक भूकर, एसडीएम सदर, एसीपी वरुण कुमार, मनोज सिंह, पीडीए के जोनल अधिकारी समेत कई अधिकारी व कर्मचारी गुरुवार को तीन जेसीबी के साथ सल्लाहपुर पहुंचे।

इसके बाद मकान को ढहाने का सिलसिला शुरू हुआ। पूरे इलाके में पुलिस फोर्स तैनात रही। पांच घंटे में करीब दो करोड़ रुपये की लागत से बनाए गए मकान को जमींदोज कर दिया गया।

इसे भी पढ़ें-घर में बेटे के शव के साथ दो दिनों से रह रही थी असहाय मां, बदबू आने पर पड़ोसियों ने की जांच तो खुला मामला

फार्महाउस और दुकान भी ढहाया जाएगा

मकान के दूसरी छोर पर जीटी रोड के किनारे व्यावसायिक भवन और फार्महाउस का निर्माण भी वक्फ बोर्ड की जमीन पर कई साल पहले किया गया था। यहां बनाई गई दुकानों का किराया जैनब के पास पहुंचता था। दुकान के पिछले हिस्से में फार्म हाउस भी बनाया गया है। पुलिस की ओर से इस प्रापर्टी को पहले कुर्क किया गया था, अब बिना नक्शा के मिले भवन को सोमवार को ढहाया जाएगा।

वक्फ बोर्ड की पूरी प्रापर्टी होगी कब्जा मुक्त

ध्वस्तीकरण की कार्रवाई के बाद वक्फ बोर्ड के मुतवल्ली अम्माद हसन ने कहा कि पूरी प्रापर्टी को कब्जा मुक्त कराया जाएगा। सल्लाहपुर में नंबर 67, 68 में वक्फ की प्रापर्टी दर्ज है। पूर्व मुतवल्ली ने माफिया और दूसरे लोगों से सांठगांठ करके वक्फ की जमीन को दूसरे को दे दिया गया था। अम्माद ने यह भी कहा कि संपत्ति को लेकर पूरी जांच कराकर कब्जा मुक्त कराना और वक्फ बोर्ड के उद्देश्य को पूरा करना प्राथमिकता है।