Move to Jagran APP

कार से लगातार टपक रहा था खून… बागवान ने पास जाकर देखा तो उड़ गए होश, प्रतापगढ़ में ग्राम प्रधान की हत्या

Gram Pradhan Murder in Pratapgarh - लोकसभा चुनाव सकुशल होने के बाद दो दिन में दो हत्याओं से एक बार फिर जनपद का माहौल गरमा गया है। शुक्रवार को महेशगंज के डिहवा जलालपुर गांव के प्रधान की गला रेतकर हत्या कर दी गई। बाग में आम तोड़ रहे बागवान ने जब गाड़ी से खून टपकता देखा तो इसकी सूचना पुलिस को दी।

By Ramesh Tripathi Edited By: Shivam Yadav Sat, 08 Jun 2024 02:07 AM (IST)
कार से लगातार टपक रहा था खून… बागवान ने पास जाकर देखा तो उड़ गए होश, प्रतापगढ़ में ग्राम प्रधान की हत्या
कार से लगातार टपक रहा था खून… बागवान ने पास जाकर देखा तो उड़ गए होश।

संवाद सूत्र, कुंडा। लोकसभा चुनाव सकुशल होने के बाद दो दिन में दो हत्याओं से एक बार फिर जनपद का माहौल गरमा गया है। शुक्रवार को महेशगंज के डिहवा जलालपुर गांव के प्रधान की गला रेतकर हत्या कर दी गई। उनका शव उन्हीं की कार में पिछली सीट पर पाया गया। 

बाग में आम तोड़ रहे बागवान ने जब गाड़ी से खून टपकता देखा तो इसकी सूचना पुलिस को दी। पुलिस ने कार का शीशा तोड़ कर उनको बाहर निकाला। सीएचसी कुंडा ले जाने पर डॉक्टर ने मृत घोषित कर दिया। 

ताजपुर-जमेठी मार्ग पर हुई घटना

डिहवा जलालपुर महेशगंज निवासी 34 वर्षीय करुणेश कुमार उर्फ मम्मन पुत्र हरिकेश बहादुर सिंह मौजूदा ग्राम प्रधान थे। यह उनका तीसरा पंचवर्षीय कार्यकाल था। उनकी कार शुक्रवार शाम लगभग साढ़े पांच बजे कुंडा के ताजपुर-जमेठी मार्ग पर अवसान देवी धाम जाने वाले रास्ते पर बाग में खड़ी मिली। 

कार से खून टपक रहा था, यह देख बाग में आम तोड़ रहे बागवान ने इसकी सूचना पुलिस को दी। कुंडा कोतवाल सत्येंद्र सिंह पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे। कार का शीशा तोड़कर पिछली सीट पर मृत पड़े ग्राम प्रधान को बाहर निकाला। पुलिस उन्हें लेकर सीएचसी कुंडा पहुंची, जहां पर चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया।

घटना की जांच जारी 

गले पर धारदार हथियार के निशान बने हुए थे। मौत की खबर मिलते ही परिजन बेहाल हो गए। सीओ कुंडा अजीत सिंह ने भी घटनास्थल का निरीक्षण किया। घटना की जांच-पड़ताल की। फिलहाल अभी तक प्रधान वहां कैसे पहुंचे, उन्हें कौन ले गया, इसके बारे में कुछ पता नहीं चल पाया है। 

ग्राम प्रधान कुंडा के सुभाष नगर मोहल्ले में मकान बनवाकर पत्नी और तीन बच्चों के साथ रहते थे। रोज गांव आते-जाते थे। सीओ अजीत सिंह ने बताया कि घटना की जांच की जा रही है। 

अभी प्रधान के परिवार ने तहरीर नहीं दी है l पुलिस अपने स्तर से मिले तथ्यों के आधार पर जांच को आगे बढ़ा रही है l रंजिश में हत्या की आशंका है। जल्द ही घटना का पर्दाफाश किया जाएगा l 

-संजय राय, अपर पुलिस अधीक्षक पश्चिमी

हत्या के मामले में जा चुका था जेल, चल रहे थे कई मुकदमे

गला रेतकर प्रधान की हत्या के पीछे अपराध व पंचायती चुनाव की रंजिश और मुकदमेबाजी को अब तक मुख्य वजह माना जा रहा है l उस पर हत्या समेत कई मुकदमे चल रहे थे l इस वजह से पूरी प्लानिंग के साथ हत्या की आशंका जताई जा रही है l 

प्रधान पर राजनीतिक वर्चस्व के चलते बीडीसी माजिद अली की हत्या का आरोप लगा था। मामले में पुलिस ने हत्या का मुकदमा दर्ज कर उसे जेल भेज दिया था। आसपास के अन्य कई थानों में कई संगीन आपराधिक मामले दर्ज हैं। 

सामूहिक दुष्कर्म का भी था आरोपी

ग्राम प्रधान और उसके साथी समेत दो अज्ञात लोगों पर ग्राम सभा की एक महिला ने 18 अप्रैल को शौच जाते समय पकड़ कर दुष्कर्म करने का आरोप लगाते हुए थाने में मुकदमा दर्ज कराया था। विवेचना अभी चल रही है। 

यह भी पढ़ें: बाग में मिला नवविवाहिता का शव, पति ससुराल में छोड़ने के लिए निकला था… पास में मिला शादी का कार्ड, साड़ी और चप्पल