Move to Jagran APP

Noida News: ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण में जमे अधिकारियों को किया गया कार्यमुक्त, 3 जुलाई को हुआ था तबादला

Greater Noida Authority News ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण में लंबे समय से जमे कई अधिकारियों को गुरुवार को कार्यमुक्त कर दिया गया। शासन ने इनका तबादला 3 जुलाई को किया था। महाप्रबंधक परियोजना एके अरोड़ा का तबादला यूपीसीडा कानपुर किया गया है।

By Abhishek TiwariEdited By: Published: Fri, 05 Aug 2022 09:41 AM (IST)Updated: Fri, 05 Aug 2022 09:41 AM (IST)
Noida News: ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण में जमे अधिकारियों को किया गया कार्यमुक्त

ग्रेटर नोएडा, जागरण संवाददाता। ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण (Greater Noida Authority) ने गुरुवार शाम उन शेष अधिकारियों को भी कार्यमुक्त कर दिया, जिनका तबादला तीन जुलाई को शासन ने किया था। इनमें से कुछ अधिकारी दशकों से प्राधिकरण में जमे हुए थे। महाप्रबंधक परियोजना एके अरोड़ा भी कार्यमुक्त हो गए हैं, उनका यूपीसीडा कानपुर तबादला किया गया है।

ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के सीईओ व मेरठ मंडल कमिश्नर सुरेंद्र सिंह ने बताया कि जो अधिकारी कार्यमुक्त नहीं हुए थे, उन्हें गुरुवार शाम रिलीव कर दिया गया है। ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के परियोजना विभाग के उप प्रबंधक कालूराम वर्मा को प्रभारी महाप्रबंधक बनाया गया है।

कार्यमुक्त होने वाले अधिकारियों की सूची

कार्यमुक्त होने वालों में प्रबंधक विद्युत संदीप भारता को यूपीसीडा कानपुर, सहायक प्रबंधक सिविल करण सिंह त्यागी को यूपीसीडा कानपुर, प्रबंधक प्रशासन रविंद्र सिंह को गोरखपुर प्राधिकरण, प्रबंधक प्रशासन पदम सिंह को नोएडा प्राधिकरण, प्रबंधक सिविल ब्रह्मपाल सिंह को गोरखपुर प्राधिकरण, वरिष्ठ प्रबंधक सिविल अजय कुमार राय को गोरखपुर प्राधिकरण भेजा गया है। तीन जुलाई को शासन ने 28 अधिकारियों का तबादला किया था, जिनमें से 21 को पहले ही कार्यमुक्त कर दिया गया था।

प्राधिकरण में सेवानिवृत्त तहसीलदारों को अनुबंध पर मिलेगा काम

नोएडा प्राधिकरण कर्मचारियों की घटती संख्या से निजात पाना चाहता है, लेकिन इसका रास्ता अधिकारियों को नजर नहीं आ रहा है। शासन को कई बार कर्मचारियों की कमी का हवाला देकर शीर्ष अधिकारियों ने पत्र भी लिखा गया है। शासन स्तर पर प्राधिकरण की यह मांग पूरी नहीं हो रही है।

ऐसे में अब नोएडा प्राधिकरण ने सेवानिवृत्त तहसीलदारों को अनुबंध पर रखने का निर्णय लिया है। इसके लिए भूलेख विभाग को बोर्ड में प्रस्ताव लाने को कहा गया है। नोएडा प्राधिकरण में वर्तमान में छह तहसीलदार के पद है, लेकिन तैनाती सिर्फ एक की है।


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.