ग्रेटर नोएडा [धर्मेंद्र चंदेल]। राजबब्बर को कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष पद से हटाए जाने के बाद अब जिले में भी पार्टी जिलाध्यक्ष बदलने की चर्चा तेज हो गई है। अजय कुमार लल्लू को नया प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया है। उनकी टीम में मौजूदा जिलाध्यक्ष नहीं होंगे। सूत्रों की मानें तो जिलाध्यक्ष डॉ. महेंद्र नागर को हटाए जाने का निर्णय सोमवार को दिल्ली में प्रियंका गांधी के आवास पर हुई बैठक में हो चुका है। उनकी जगह इस बार किसी युवा को जिले की बागडोर देने की तैयारी है। इनमें चार नाम प्रमुखता से लिए जा रहे हैं। हालांकि, कई वरिष्ठ नेताओं ने भी जिलाध्यक्ष की कुर्सी हथियाने के लिए दिल्ली में गोलबंदी शुरू कर दी है। रविवार तक नए जिलाध्यक्ष के नाम की घोषणा हो सकती है।

आजादी के बाद इस जिले में लंबे समय तक कांग्रेस का वर्चस्व रहा। सांसद और विधायक की कुर्सी पर कांग्रेसी विराजमान होते रहे। मिनी गांधी के नाम से मशहूर स्वर्गीय रामचंद्र बिकल व क्रांतिकारी नेता बिहारी सिंह बागी तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी और राजीव गांधी के करीबी रहे। इनके चलते जिले में कांग्रेस का झंडा बुलंद रहा। बाद में वैदपुरा गांव के रहने वाले राजेश पायलट ने कांग्रेस में मुकाम हासिल किया। राजेश पायलट के चलते भी लोगों का कांग्रेस की तरफ झुकाव रहता था, लेकिन उनके देहांत के बाद धीरे-धीरे जिले में कांग्रेस का वजूद समाप्त होता चला गया।

गौतमबुद्ध नगर में कांग्रेस अब हाशिए पर है। कई पुराने कार्यकर्ता पार्टी छोड़ चुके है। गौतमबुद्ध नगर भाजपा का गढ़ बन चुका है। सांसद, राज्यसभा सदस्य, तीन विधायक भाजपा के हैं। इन सबके बीच कांग्रेस अपनी खोई जमीन को तलाशना चाहती है। हालांकि, देश में जिस तरह से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का जादू छाया हुआ है, उससे कांग्रेस का गौतमबुद्ध नगर में फिर से पैर जमाना मुश्किल होगा। बावजूद इसके पार्टी किसी ऐसे युवा को जिले की बागडोर देना चाहती है जो मोदी के जादू के बीच कांग्रेस का जनाधार खड़ा कर सके।

नए जिलाध्यक्ष के लिए अजीत दौला, दिनेश अवाना, मनोज चौधरी, रामकुमार तंवर का नाम प्रमुखता से लिया जा रहा है। पहले वीरेंद्र गुड्डू को जिलाध्यक्ष बनाने की चर्चा थी, लेकिन उन्हें प्रदेश महासचिव बना दिया गया है। इससे वे जिलाध्यक्ष की दौड़ से दूर हो गए हैं। मौजूदा जिलाध्यक्ष डॉ. महेंद्र नागर, पूर्व जिलाध्यक्ष अजय चौधरी, रमेश चंद्र शर्मा, दीपक भाटी चोटीवाला, जयचंद चौधरी आदि भी अपने लिए गोलबंदी करने में जुटे हैं। सूत्रों का कहना है कि पार्टी हाईकमान ने जिलाध्यक्ष का नाम तय करने से पहले पूर्व विधायक समीर भाटी व पार्टी के सबसे वरिष्ठ नेता पीतांबर शर्मा से भी विचार-विमर्श किया है।

दिल्ली-NCR की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां पर करें क्लिक

Posted By: JP Yadav

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप