Move to Jagran APP

UP Lok Sabha Result: पार्टी के मजबूत साथी और दूसरे दलों से आए नेताओं ने मजबूत किया BJP का किला, इस सीट पर लगाई जीत की हैट्रिक

पूरे प्रदेश में सपा-कांग्रेस गठबंधन से पिछड़ने के बावजूद गौतम बुद्ध नगर लोकसभा सीट पर भाजपा की स्थिति और मजबूत हुई है। यहां से जीतने वाले भाजपा प्रत्याशी डॉ. महेश शर्मा ने प्रदेश में सबसे अधिक अंतर से जीत दर्ज की है। पिछले रिकॉर्ड को भी उन्होंने तोड़ा। लोकसभा सीट पर भाजपा के किले को और मजबूत करने में उन नेताओं को बड़ा हाथ रहा है।

By Dharmendra Kumar Edited By: Geetarjun Tue, 04 Jun 2024 11:44 PM (IST)
पार्टी के मजबूत साथी और दूसरे दलों से आए नेताओं ने मजबूत किया BJP का किला।

जागरण संवाददाता, नोएडा। पूरे प्रदेश में सपा-कांग्रेस गठबंधन से पिछड़ने के बावजूद गौतम बुद्ध नगर लोकसभा सीट पर भाजपा की स्थिति और मजबूत हुई है। यहां से जीतने वाले भाजपा प्रत्याशी डॉ. महेश शर्मा ने प्रदेश में सबसे अधिक अंतर से जीत दर्ज की है। पिछले रिकॉर्ड को भी उन्होंने तोड़ा। लोकसभा सीट पर भाजपा के किले को और मजबूत करने में उन नेताओं को बड़ा हाथ रहा है, जो, उनके मजबूत और पुराने साथी है।

दूसरे दलों को छोड़ भाजपा में शामिल हुए नेताओं ने भी उनकी जीत में अहम भूमिका निभाई। इनमें खासकर गौतमबुद्ध नगर और बुलंदशहर निकास सीट से विधान परिषद सदस्य व पूर्व मंत्री नरेंद्र भाटी, गढ़ से सपा से विधायक रहे मदन चौहान शामिल हैं। गुर्जरों में नरेंद्र भाटी ने महेश शर्मा के लिए कड़ी मेहनत की थी। वह सिकंद्राबाद से तीन बार विधायक रहें हैं, इसलिए भाटी का असर वहां भी है।

जेवर में दूसरी बिरादरियों में भी नरेंद्र भाटी का खासा प्रभाव है। इसका बड़ा लाभ भाजपा को मिला। चुनाव के दौरान ठाकुर समाज में नाराजगी थी। गढ़ से सपा के टिकट पर पूर्व विधायक मदन चौहान चुनाव से पहले भाजपा में शामिल हुए। उन्होंने ठाकुर समाज की नाराजगी को दूर करने में अहम निभाई।

इसके अलावा भाजपा में शामिल हुए दादरी से सपा के टिकट पर चुनाव लड़ने वाले अशोक चौहान, फोनरवा अध्यक्ष योगेंद्र शर्मा, फोनरवा के पूर्व अध्यक्ष एनपी सिंह, बसपा के टिकट पर जेवर विधान सभा से चुनाव लड़े नरेंद्र भाटी डाढ़ा, वीरेंद्र डाढ़ा, कांग्रेस के मनोज चौधरी, आम आदमी पार्टी से दादरी विधान सभा से चुनाव लड़े संजय चेची आदि का भी भाजपा को लाभ मिला।

भाजपा के मजबूत और पुराने साथियों में दादरी विधायक तेजपाल नागर, एमएलसी श्रीचंद शर्मा, खुर्जा विधायक मिनाक्षी सिंह, नोएडा विधायक पंकज सिंह, सिकंद्राबाद विधायक लक्ष्मीराज सिंह, पश्चिमी उप्र के क्षेत्रीय अध्यक्ष सतेंद्र सिसोदिया, जिलाध्यक्ष गजेंद्र मावी, नोएडा महानगर अध्यक्ष मनोज गुप्ता, पूर्व महानगर अध्यक्ष जुगराज चौहान, लोकसभा प्रभारी अनिल सिसोदिया व संयोजक प्रणीत भाटी, भाजयुमो जिलाध्यक्ष राज नागर, सतेंद्र नागर, पूर्व मंत्री हरिश्चंद्र भाटी, गीता पंडित आदि की रणनीति ने भाजपा को और मजबूती दी।

नतीजा यह रहा कि डॉ महेश शर्मा के सामने बसपा और सपा प्रत्याशी चारों खाने चित नजर आए। जेवर में हुए विरोध का भी असर नहीं हुआ। विरोध के बावजूद महेश शर्मा जेवर में भी जीतने में कामयाब रहें। दोनों में से कोई प्रत्याशी को इतने वोट नहीं मिले कि वह कभी भी नंबर एक बनने की स्थिति में नजर आए। वहीं दोनों प्रत्याशी मिलकर भी डॉ. महेश शर्मा को मिले वोटों के आधे वोट भी नहीं पा सके।