ग्रेटर नोएडा, जागरण संवाददाता। ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण ने बृहस्पतिवार को क्रेडाई के सदस्यों के साथ बैठक की। क्रेडाई के दिल्ली-एनसीआर के अध्यक्ष व गौड़ समूह के मुख्य महाप्रबंधक मनोज गौड़ ने बिल्डरों से संबंधित कई बिंदुओं को रखा। मनोज गौड़ ने बताया कि बैठक में प्राधिकरण से अनुरोध किया ग्रेटर नोएडा में भी नोएडा के समान ग्राउंड कवरेज 50 प्रतिशत हो।

परियोजना के पूरा होने का समय मैप अनुमोदन के बाद माना जाए। मानचित्र अनुमोदन को एक वर्ष की अनुमति मिले। ग्रैप के मद्देनजर तीन वर्ष तक के लिए 14 महीने का समय जोड़ा जाए। दरअसल ग्रैप लागू होने से दो महीने कोई निर्माण कार्य नहीं होने दिया जाता।

इससे परियोजना में देरी होती है। कुल अवधि पांच वर्ष दो महीने होनी चाहिए। कंप्लीशन सर्टिफिकेट को बकाया राशि से नहीं जोड़ा जाना चाहिए। साथ ही अनुरोध किया कि तीनों प्राधिकरणों के नियमों में एकरूपता होनी चाहिए।

इसके अलावा क्रेडाई एनसीआर ने प्राधिकरण से एन्क्युमब्रेन्स फ्री प्लाट को प्रकाशित करने का अनुरोध किया है और नीलामी से पहले सभी भूखंडों की सीमा और संख्या को चिह्नित करने को कहा।

Edited By: Geetarjun