मुजफ्फरनगर, जेएनएन। सीकरी गांव में विद्युत लाइनमैन के साथ मारपीट कर जबरदस्ती घर में खींचने के आरोप में फरार चले रहे पांच आरोपितों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। जबकि दो आरोपित अभी पुलिस के हत्थे नही चढ़े है।

गांव सीकरी स्थित बिजलीघर पर सिकंदरपुर निवासी संविदा लाइनमैन अनुज के साथ आधा दर्जन युवकों द्वारा बाइक से नीचे गिराकर मारपीट करते हुए जबरन घर में खींचने का वीडियो बीते चार मई को इंटरनेट मीडिया पर वायरल हुआ था। घटना से क्षेत्र के बिजली घरों पर काम करने वाले संविदा कर्मियों में रोष फैल गया था। पुलिस ने कार्रवाई करते हुए लाइनमैन अनुज की ओर से सीकरी निवासी सलमान, अय्याज, रफी, खालिद, नाज, आस मोहम्मद, आबिद व एक अज्ञात के विरुद्ध गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज किया था। प्रभारी निरीक्षक दीपक चतुर्वेदी ने बताया कि विवेचक उप निरीक्षक रेशमपाल सिंह की टीम ने शुक्रवार को फरार चल रहे आरोपित सलमान, अय्याज, रफी , नाज, खालिद समेत पांच आरोपितों को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया जहां से उन्हें जेल भेजा गया है जबकि आस मोहम्मद व आबिद पुलिस के हत्थे नहीं चढ़ पाए है। पुलिस आरोपितों की तलाश में दबिश दे रही है। पुलिस ने गोवंश की जान बचाई, एक आरोपित पकड़ा

चरथावल : ग्राम कुल्हेड़ी के जंगल में गोकुशी होने की सूचना पर पहुंची पुलिस ने एक आरोपित को दबोचा। पुलिस ने मौके से एक गोवंश, गोकुशी के उपकरण, तमंचा व कारतूस बरामद किया है। वहीं, पुलिस ने तीन वांछितों को भी गिरफ्तार किया है। सभी का चालान कर दिया है।

थाना प्रभारी एमपी सिंह ने बताया कि पुलिस को सूचना मिली थी कि ग्राम कुल्हेड़ी के जंगल में एक व्यक्ति गोवंश के कटान की फिराक में है। सूचना पर दधेड़ू चौकी इंचार्ज संजय राणा, मोहित तेवतिया, महेंद्र सिंह ने पुलिस टीम के साथ जंगल में छापेमारी की। गोकुशी करने वाले आरोपित को पुलिस टीम ने मौके से गिरफ्तार कर लिया। तलाशी में आरोपित के पास से तमंचा व कारतूस मिले। वहीं कटान के लिए बंधक बनाए गोवंश को मुक्त कराया। पकड़े गए आरोपित ने पुलिस को अपना नाम दिलशाद पुत्र महेरु ग्राम कुल्हेड़ी बताया। वहीं पुलिस ने अन्य मुकदमें में वांछित दो गोकश भूरा उर्फ आमिर पुत्र नजरू व इस्तकार पुत्र फरागत निवासीगण ग्राम कुल्हेड़ी व पुलिस टीम पर हमला करने के मामले में कई माह से वांछित अमजद पुत्र सगीर अहमद निवासी दधेड़ू कला को भी पुलिस ने गांव के बस स्टैंड से पकड़ा। पकड़े गये सभी आरोपितों का चालान कर दिया गया।

Edited By: Jagran