मुजफ्फरनगर, जेएनएन। थाना छपार पुलिस ने क्राइम ब्रांच के साथ मिलकर नकली सीमेंट बनाने की फैक्ट्री का भंडाफोड़ किया है। इस फैक्ट्री में अल्ट्राटेक ब्रांड का नकली सीमेंट तैयार किया जा रहा था। पुलिस ने मौके से पांच को गिरफ्तार किया, जबकि फैक्ट्री मालिक सहित पांच आरोपित फरार हो गए। मौके से भारी मात्रा में तैयार नकली सीमेंट व अन्य सामान बरामद किया गया। फैक्ट्री को सील कर दिया गया।

गुरुवार को रिजर्व पुलिस लाइन में प्रेसवार्ता कर एसपी क्राइम दुर्गेश कुमार सिंह ने बताया कि रोहाना व रामपुर तिराहा के बीच स्थित एक गोदाम में छापा मारा गया। जहां नकली सीमेंट बनाया जा रहा था। पुलिस ने मौके से मुदस्सिर पुत्र सिकंदर बैग निवासी सूजड़ू, मारूफ पुत्र फारुख निवासी सिखेड़ा, मुनव्वर पुत्र हसन अब्बास निवासी कृष्णापुरी, आसिफ पुत्र आसरीन खान निवासी अंबा विहार व अनिल पुत्र श्यामलाल निवासी रोहाना खुर्द को गिरफ्तार कर लिया गया। जबकि फैक्ट्री मालिक राजेश सिघल निवासी अग्रसेन विहार कादिर पुत्र आलम निवासी कृष्णापुरी, अभिषेक निवासी अग्रसेन विहार, मुजम्मिल पुत्र अब्दुल रशीद निवासी उझारी थाना साद नगली अमरोहा व सालिम राणा पुत्र मुर्तजा निवासी चिलकाना सहारनपुर मौके से फरार हो गए।

183 कट्टे नकली सीमेंट व भारी मात्रा में रोड़ी बरामद

एसपी क्राइम ने बताया कि पुलिस ने आरोपियों की निशानदेही पर दो पिकअप गाड़ी बरामद की। जिनमें अल्ट्राटेक कंपनी के 163 सीमेंट के नकली कट्टे लदे हुए थे। पुलिस ने मौके से 183 कट्टे बना हुआ नकली सीमेंट, 510 खाली कट्टे ,1045 पुराने खराब सीमेंट के कट्टे। सीमेंट बनाने में काम आने वाले उपकरण बरामद किए।

140 में तैयार हो जाता था सीमेंट का एक कट्टा

पकड़े गए आरोपियों ने पुलिस को बताया कि फैक्ट्री मालिक राजेश सिघल नकली सीमेंट बनाने के लिए उन्हें कच्चा माल लाकर देता था। वे लोग बनाए गए नकली सीमेंट को बाजार में 335 से 340 रुपयों के बीच बेच देते थे। उनकी सप्लाई जनपद के अलावा मेरठ, बागपत, सहारनपुर तथा आसपास के जनपदों में है। एसपी क्राइम ने बताया कि फरार राजेश सिघल व गिरफ्तार हुआ मुदस्सिर सिखेड़ा क्षेत्र में भी नकली सीमेंट बनाने की फैक्ट्री चलाने के आरोप में गिरफ्तार होकर जेल जा चुके हैं। एसएसपी ने पुलिस टीम को पुरस्कृत करने की घोषणा की है।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021