मुरादाबाद, जेएनएन। UP Vidhan Sabha Election 2022 : समाजवादी पार्टी ने देहात विधानसभा सीट से मीट कारोबारी नासिर कुरैशी को प्रत्याशी बनाया है। नामांकन के पहले दिन ही उन्होंने जिलाध्यक्ष को साथ ले जाकर नामांकन पत्र दाखिल कर दिया। सपा ने उन्हें पिछली बार के विधायक हाजी इकराम कुरैशी का टिकट काटकर उन्हें इस बार टिकट दिया है। हालांकि इससे पहले वह दो बार बसपा के टिकट से कांठ और मुरादाबाद देहात विधानसभा सीट से चुनाव लड़ चुके हैं। लेकिन इस बार उन्हें समाजवादी पार्टी से देहात विधानसभा सभा सीट से उम्मीदवार बनाया गया है।

बीते पांच सालों में महामारी के इस दौर में उनके कारोबार में खूब बढ़ोत्तरी हुई है। 2017 के विधान सभा चुनाव में जितने भी प्रत्याशी चुनाव लड़े थे, उनमे सबसे ज्यादा संपत्ति नासिर कुरैशी ने दर्ज कराई थी। उन्होंने जो घोषणा की थी उसमेंं अनुसार उनके पास चल और अचल मिलाकर कुल 47.39 करोड़ थी। उनके आसपास कोई भी प्रत्याशी नहीं था। इसमें उनकी पत्नी जकिया परवीन के पास 3.81 लाख रुपये, आवासीय भूखंड 3255.40 वर्गमीटर. बैंक लोन मैसर्स अन नासिर फूड्स के नाम से 1.04 करोड़ रुपये, शेयर मैसर्स शीराज फूड्स प्राइवेट लिमिटेड के 4600 शेयर थे।

जबकि चुनाव खाते में 55,052 रुपये थे, डायरेक्टर मैसर्स खाते में 36.93 लाख रुपये। नासिर ने खुद के पास किसी प्रकार के जेवर नहीं दर्शाए थे जबकि पत्नी के पास 15 तोले के सोने के जेवर दिखाए थे। साल 2022 में उन्होंने जो संपत्ति ब्योरा दिया है,वह पिछली बार से दोगुना है। चल और अचल संपत्ति मिलाकर कुल लगभग 70 करोड़ रुपये से अधिक की संपत्ति का ब्योरा उन्होंने नामांकन पत्र में दिया है। जिसमें मुरादाबाद की जमीन,घर,फ्लैट के साथ ही दिल्ली,लखनऊ और नैनीताल की जमीन का ब्योरा दिया गया है।

हालांकि सोने-चांदी के कालम में उन्होंने 15 तोला सोने पत्नी के पास होने की जानकारी दी है। जबकि उन्होंने बैंक से एक करोड़ रुपये का लोन होने की जानकारी दी है। इसके साथ ही उनके चुनाव खाते में इस बार लगभग दस लाख रुपये होने की जानकारी दी है। वाहनों के कालम में उन्होंने एक डिलीवरी वैन होने की जानकारी दी है। जबकि उनके पास खुद की कोई कार नहीं है। वहीं एक रिवाल्वर उनके नाम पर है। जबकि बच्चों के खाते में 20 हजार रुपये होने की जानकारी दी है।

Edited By: Samanvay Pandey